उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को सपा और बसपा नेताओं पर खुद को भ्रष्टाचार के मामलों में जेल जाने से बचने के लिये एक-दूसरे से हाथ मिलाने का आरोप लगाया। योगी ने यहां आयोजित चुनावी रैली में आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार में डूबे सपा और बसपा के शीर्ष नेताओं के खिलाफ आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक सम्पत्ति रखने का मुकदमा चल रहा है, लिहाजा खुद को सलाखों के पीछे जाने से बचाने के लिये दोनों ने गठबंधन कर लिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा में अब उसके संस्थापक मुलायम सिंह यादव की कोई भूमिका नहीं रह गयी है, क्योंकि उन्हें पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल नहीं किया गया था। योगी ने दावा किया कि भाजपा बदायूं और कन्नौज लोकसभा सीटें आसानी से जीतेगी जबकि मैनपुरी में उसे कुछ संघर्ष करना पड़ेगा। उन्होंने दावा कि कि देश भर में भाजपा का चक्रवात चल रहा है और नरेन्द्र मोदी एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री बनेंगे।

LEAVE A REPLY