प्रयागराज में पीसीबी छात्रावास में रविवार देर रात रोहित शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सनसनीखेज वारदात से हड़कंप मच गया। आनन फानन में शहर के कई थानों की फोर्स हॉस्टल के आसपास लगा दी गई। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने जांच की और दावा किया की गैंगवार में ही रोहित मारा गया है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र नेता सुमित शुक्ला की कुछ माह पहले ही पीसीबी छात्रावास के अंदर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सुमित का करीबी जॉर्ज टाउन निवासी रोहित शुक्ला मौके पर था और इस मर्डर केस में गवाह भी था।
बताया जा रहा है कि रविवार रात करीब 2:00 बजे रोहित अपने साथियों के साथ पीसीबी छात्रावास पहुंचा था। इस दौरान इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से प्रेसिडेंट का चुनाव लड़ चुके आदर्श त्रिपाठी और उनके साथियों से किसी बात को लेकर विवाद हो गया । हॉस्टल के अंदर शौचालय के पास रोहित को गोलियों से छलनी कर दिया गया। रोहित के साथियों ने पुलिस को सूचना दी और गंभीर हालत में उसे स्वरूप रानी अस्पताल ले गए जहां उस उसे मृत घोषित कर दिया। एहतियातन छात्रावास के आसपास पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। मौके पर पहुंचे रोहित के परिजनों ने मर्डर केस में छात्र नेता आदर्श त्रिपाठी, नवनीत यादव समेत छह के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है। पुलिस आरोपियों की तलाश में लगी है।
रोहित शुक्ला बारा का रहने वाला था लेकिन कुछ समय से अपने परिवार के साथ वह जॉर्ज टाउन में रहता था। इलाहाबाद छात्र राजनीति में उसकी सक्रिय भूमिका थी और छात्र उसे बीटू शुक्ला के नाम से जानते थे।

LEAVE A REPLY