प्रतापगढ।।एक तरफा प्यार में पागल युवक ने सोमवार को युवती के दरवाजे पर खुद को गोली से उड़ा लिया। शादी की जिद कर रहे युवक को युवती ने मना किया तो उसने उसने खुद को गोली मार ली। गंभीर हालत में उसे सीएचसी बाघराय ले जाया गया। वहां से प्रयागराज स्थित एसआरएन अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां शाम को युवक ने दम तोड़ दिया। महेशगंज के रेवती राम का पुरवा निवासी हरिश्चंद्र का बेटा रंजीत गौतम (24) पेटिंग करता था। डेरवा बाजार के पास स्थित एक गांव में रहने वाली युवती से वह एकतरफा प्यार करने लगा। युवती का कहना है कि वह युवक को बिल्कुल भी पसंद नहीं करती थी। चर्चा है कि करीब सालभर से रंजीत इस बात का इंतजार करता रहा कि शायद युवती उसे स्वीकार कर लेगी। लेकिन युवती हर बार उसे झिड़क देती थी। इससे परेशान रंजीत सोमवार दोपहर तमंचा लेकर युवती के गांव पहुंच गया। युवती के घर के पास अपनी साइकिल खड़ी कर वह नाम लेकर उसको पुकारने लगा। युवती व उसकी भाभी घर से बाहर निकलीं तो रंजीत युवती से फिर से शादी करने की बात कही। लेकिन इस बार भी युवती तैयार नहीं हुई तो उसने खुद को गोली मार ली। रंजीत ने तमंचे से अपने सीने में बाईं ओर गोली मारी। गोली चलने के साथ वह गिर पड़ा तो युवती व उसकी भाभी घबरा गईं। गांववालों की भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने एंबुलेंस से रंजीत को अस्पताल भेजा। मौके पर पहुंची महेशगंज पुलिस ने युवती से पूछताछ की तो युवती ने रंजीत से किसी तरह के संबंध से साफ इनकार किया। शाम को प्रयागराज स्थित एसआरएन अस्पताल में रंजीत ने दम तोड़ दिया।
एसपी एस आनन्द:-
रंजीत करीब एक साल से युवती के चक्कर में परेशान था। सोमवार को वह शादी के लिए युवती को उसके घर से खींचने लगा। युवती व उसके घर की महिलाओं ने मना किया तो उसने खुद को गोली मार ली।

LEAVE A REPLY