इस वक्त की बड़ी खबर बिहार के गोपालगंज जिले के भोरे थाना क्षेत्र के भोरे कटेया मुख्य पथ पर बेलवा गांव के समीप नहर से प्रकाश में आया है जहां घर से गायब युवक की झाड़ियों से लाश बरामद की गई है
मृत युवक स्थानीय थाना क्षेत्र के रकवा गांव निवासी दुर्योधन भगत का 32 वर्षीय पुत्र अनवत सिंह बताया जा रहा है घटना के संबंध में बताया जाता है कि मृत युवक आज से 5 दिन पूर्व घर से गायब हो गया था हालांकि इसको लेकर मृत युवक के पिता दुर्योधन भगत ने स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने को लेकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी

खेत में काम करने गए किसानों ने दी स्थानीय पुलिस को सूचना,

बता दे कि जीस शव को भोरे पुलिस ने बरामद किया है उसकी सूचना रबी फसल की बुवाई कर रहे किसान जब अपने खेत की तरफ गए तो उन्होंने झाड़ियों के अंदर देखा कि एक विचित्र अवस्था में शव पड़ा हुआ है शव को देख उपस्थित किसानों ने स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दें वही शव की खबर मिलते ही भोरे प्रखंड में सनसनी फैल गई। कुछ पल के लिए चारों तरफ अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया और शव को देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग सड़क पर उतर आए वही मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भेज दिया।

पीड़ित परिवार ने थानेदार पर लगाया गंभीर आरोप
एक नजर यहाँ भी,,,,,

वही मृतक की पत्नी निर्मला देवी से जब मीडिया कर्मी ने बात की तो वह पति का नाम सुनते ही कुछ पल के लिए खामोश हो गई वही निर्मला ने बताया कि स्थानीय पुलिस के पास मेरे ससुर दुर्योधन भगत इन 5 दिनों के अंदर तीन बार गए हैं पुलिस ने यह कह कर उन्हें भेज दिया कि आप लोग पता लगाइए कहीं पगला के घूम रहा होगा,

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना कर गई भोरे पुलिस,

यह कहना गलत नहीं होगा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना भोरे न कर गई हो सवाल तो उठेंगे ही बता दे कि आज से 3 वर्ष पूर्व केंद्र की मोदी सरकार ने संशोधन बिल सुप्रीम कोर्ट में लेकर आई की किसी भी गुमशुदा व्यक्ति का पुलिस स्टेशन में सनहा दर्ज नहीं करना है 24 घंटे के अंदर कांड अनुसंधान कर प्राथमिकी दर्ज करना है, इसको लेकर आईपीसी की धारा 365 /366 का प्रावधान सुप्रीम कोर्ट ने किया था लेकिन स्थानीय पुलिस ने ऐसा नहीं किया, प्राथमिकी तो दूर की बात गायब हुए युवक की तलाश से कोसों दूर रही स्थानीय पुलिस।

ठेले पर भुजा बेचकर करता था परिवार का भरण पोषण,
मृत व्यक्ति के बारे में बताया जाता है कि आर्थिक स्थिति से काफी कमजोर परिवार का था अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए वह चौक चौराहों की गलियों में ठेले पर भुजा लेकर बेच कर घर का भरण पोषण किया करता था 3 साल पहले उसकी मां डुमिनी देवी को एक जहरीले सांप ने काट दिया था जिस कारण उसकी मौत हो गई थी तब से इस पूरे परिवार का बोझ इसके सर पर था वही आज से 5 दिन पूर्व यह घर से गायब हो गया पिता ने इसकी काफी खोजबीन की इसका कहीं पता नहीं चला तो उन्होंने स्थानीय थाने का दरवाजा खटखटाया लेकिन यहां भी निराशा ही हाथ लगी आज झाड़ियों के बीच से इस व्यक्ति का शव पुलिस द्वारा बरामद किया गया हालांकि परिवार वाले हत्या की आशंका जता रहे हैं वहीं स्थानीय पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने से परहेज कर रही है। वही मृत व्यक्ति के एक पांच वर्षीय पुत्री सुमन 3 वर्षीय राधिका सहित एक 3 माह का दूध मुहा बेटा है।

ब्यूरो प्रमुख प्रदीप शर्मा।गोपालगंज।

LEAVE A REPLY