संवाददाता मनीष वर्मा।

बिहार के गोपालगंज जिले में सड़क हादसे अब आम बात बनती जा रही है जल्दी बाजी के चक्कर में सप्ताह नहीं बितता की सड़क हादसे में मौत की खबर सामने ना आए मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 2 माह के अंदर 13 लोगो की जान जहां चली गई वहीं 56 से ऊपर लोग घायल अवस्था में अस्पताल की चौखट में पड़े हुए हैं फिर भी रफ्तार पर तेज चलने वालों का लगाम नहीं लगा जिला प्रशासन के सघन अभियान के दौरान सुरक्षित चलने को लेकर कई बार पहल किया गया है लेकिन प्रशासन की बात की अनसुनी कर अपनी मनमर्जी करने से बाज नहीं आ रहे हैं वाहन चालक कुछ ऐसा ही मंजर अहले सुबह बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के राजापट्टी कोठी बाजार के समीप से प्रकाश में आया स्थानीय थाने के राजापट्टी कोठी बाजार के सिंह चौक के समीप अनियंत्रित ट्रक की चपेट में आने से 50 वर्षीय अधेड़ की मौत हो गई | मृतक सीमावर्ती सारण जिले के मशरख थाने के लखनपुर गांव के योगेंद्र राम थे | घटना से आक्रोशित लोगों ने छपरा-महम्मदपुर स्टेट हाईवे 90 जाम कर हंगामा,प्रदर्शन व आगजनी शुरू कर दी | घटना के संबंध में बताया गया कि योगेंद्र राम घर से राजापट्टी कोठी बाजार पर सामान खरीदने के लिए आये थे | वे सिंह चौक के समीप एक चाय की दुकान पर सोमवार की सुबह चाय पीने के लिए रुके थे | इसी बीच ट्रैक्टर और ट्रक के बीच भिड़ंत हो गई | इससे ट्रक चालक ने संतुलन खो दिया और दुकान के पास खड़े योगेंद्र राम को रौंद डाला | ग्रामीणों ने ट्रक व ट्रैक्टर के चालकों,खलासी सहित तीन लोगों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया है | मृतक के परिजनों को तत्काल मुआवजा देने की मांग को लेकर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण राजापट्टी बाजार में इससे जाम कर हंगामा प्रदर्शन व आगजनी शुरू कर दिये | करीब ढाई घंटे तक आगजनी व हंगामा जारी रहा | घटना कि सूचना मिलते हीं सिधवलिया, महम्मदपुर व बैकुंठपुर थानों की पुलिस ने पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने-बुझाने का प्रयास किया | अंचल पदाधिकारी पंकज कुमार ने बताया कि मृतक के परिजन को तत्काल चार लाख रुपये मुआवजा मुहैया कराने का आश्वासन दिया गया | उसके बाद सड़क जाम व प्रदर्शन खत्म हो सका | थानाध्यक्ष अमितेश ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भेजा गया है | ग्रामीणों द्वारा पकड़े गए ट्रक व ट्रैक्टर चालकों को भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है | समाचार लिखे जाने तक घटना की प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही थी |

LEAVE A REPLY