सुनामी एक्सप्रेस।

कल दिनदहाड़े मीरगंज थाना क्षेत्र के जिगना ढाला के समीप वर्कशॉप पर पूर्व मुखिया अरुण सिंह की गोली मारकर बदमाशों ने हत्या कर दी इस मामले में पूर्व मुखिया की पत्नी अलका देवी ने स्थानीय थाने में एक नामजद सहित चार अज्ञात बदमाशों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। वहीं पुलिस के फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट के मुताबिक एक बात तो साफ है कि यह हत्या की वारदात बदले की भावना से की गई है इस हत्याकांड में जिस शख्स को नामजद आरोपी बनाया गया है वह मटिहानी नैन पंचायत की मुखिया नीलम देवी का बेटा कौशल कुमार सिंह है जिसके पिता उपेंद्र सिंह कुशवाहा की हत्या 14 सितंबर 2018 को मीरगंज थाना क्षेत्र के कुछ दूरी पर कपरपुरा मस्जिद के समीप गोली मारकर की गई थी इस मामले में मटिहानी माधो गांव निवासी कुख्यात विशाल सिंह, इसके पिता रामप्रवेश सिंह, भाई करण सिंह तथा जिगना गोपाल गांव निवासी पूर्व मुखिया अरुण सिंह को नामजद आरोपी बनाया गया था जिसके बाद पुलिस ने पूर्व मुखिया अरुण सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। बीते सितंबर माह में ही पूर्व मुखिया अरुण सिंह जमानत पर जेल से बहार आए थे।प्राथमिकी दर्ज होने के बाद यह बात तो साफ हो गया है कि पूर्व मुखिया अरुण सिंह की हत्या उपेंद्र सिंह की हत्या का बदला लेने की भावना से की गई है। पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चला रही है। वही बीते देर रात गोपालगंज एसपी मनोज तिवारी ने सीसी फुटेज कैमरा की मदद से अपराधियों की शिनाख्त की जा रही है। बहुत जल्द पूर्व मुखिया हत्याकांड में शामिल हत्यारे हवालात के अंदर होंगे,

ब्यूरो प्रमुख प्रदीप शर्मा गोपालगंज।

LEAVE A REPLY