ऑनलाइन बीमा कराने के बाद भी निरीक्षण एप सूची से प्रखंड के हजारों किसानों का नाम गायब होने पर फूटा आक्रोश

भठवा सिपाया मुख्य सडक को जाम कर विभाग के अधिकारियों के खिलाफ की नारेबाजी,मचा रहा अफरातफरी

कुचायकोट प्रखंड के हजारों किसानों का नाम निरीक्षण ऐप सूची में ना होने पर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। कुचायकोट प्रखंड के सिपाया ढाला के सभी किसानों ने जमकर सहकारिता विभाग ,पदाधिकारी के खिलाफ नारेबाजी की एवं हंगामा किया। प्रदर्शन में सिपाया ,तिवारी मटिहनिया, विजयपुर, काला मटिहनिया, दुर्गमटिहानिया गांव के किसान थे।प्रदर्शन करने वाले किसानों का कहना था कि फसल बीमा का लाभ देने में विभाग के द्वारा भेदभाव बढ़ता जा रहा है ।खरीफ 2019 में फसल सहायता योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन कर खरीफ फसल का बीमा कराया गया था। लेकिन किसान सलाहकार के द्वारा की जा रही बीमित किसानों की जांच के क्रम में यह पता चला कि फसल सहायता निरीक्षण में उपलब्ध सूची में हम किसानों का नाम नहीं है। जिस कारण हम लोगों की बीमा कराने के बाद भी जांच नहीं हो सकी। हमसभी किसानों ने सभी सत्य और विभाग के द्वारा मांगे गए कागज के साथ ऑनलाइन आवेदन कर फसल बीमा कराया था।।लेकिन फसल सहायता निरीक्षण ऐप सूची में हम किसानों का नाम गायब है। जिस कारण हम किसानों के द्वारा फसल बीमा कराने के बाद भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा ऐसा मालूम होता है। एक तरफ मौसम की मार दूसरी तरफ विभाग की लापरवाही यह किसानों के साथ घोर अन्याय हैं।
किसानों की मांग थी कि अविलंब इस तकनीकी समस्या का निदान कर निरीक्षण एप सूची में नाम शामिल हो एवं हम वंचित किसानों की भी जांच करा कर फसल बीमा का लाभ दिलाया जाए ।प्रदर्शन करने वाले किसानों चन्दन तिवारी ,अमर किशोर साह ,पवन शुक्ला,रामु कुमार, मनकिया देवी, विवेक कुमार, ननजी मुसहर,रामा यादव ,सावित्री देवी,सतरा खातून, संतोष कुमार सहित सैकड़ों की संख्या में किसान शामिल थे

LEAVE A REPLY