सुनामी एक्सप्रेस टीम गोपालगंज।
कुचायकोट संवाददाता की रिपोर्ट

कुचायकोट थाना क्षेत्र के सासामुसा बजरंग टॉकीज के समीप तेज गति से आ रही है अज्ञात वाहन ने ठोकर मार दी ग्रामीणों ने गंभीर अवस्था मे अस्पताल पहुचाया इलाज के दौरान त्रिभुवन राम लगभग 40 बर्ष की मौत हो गई वही भतीजा राहुल राम का इलाज चल रहा है उधर मौत की सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने 8:00 बजे शव को लेकर सासामुसा बजरंग टॉकीज पर पहुंचे व आगजनी कर हाईवे को जाम कर दिया जाम की सूचना मिलते ही कुचायकोट पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों और ग्रामीणों को समझाने लगे आक्रोशित ग्रामीणों ने मौके पर डीएम और एसपी को बुलाने की मांग पर आए थे जाम को लेकर अफरा-तफरी मची रही 25 किलोमीटर वाहनों की लंबी कतार लग गई एंबुलेंस और पर्यटक वाहन जाम में फंसी रही कुचायकोट बीडीओ और थानाध्यक्ष ने समझाने का प्रयास कर रहे थे वहीं परिजन वरीय अधिकारियों को बुलाने और मुआवजे की मांग पर अड़े रहे कुचायकोट बीडीओ व थानाध्यक्ष 12:00 बजे मुआवजे के आश्वासन पर समझा-बुझाकर काफी मशक्कत के बाद मामले को शांत कराया और जाम को हटाकर परिचालन शुरू कराया

25 किलोमीटर लगी वाहनों की लंबी कतार

सासामुसा जाम को लेकर 25 किलोमीटर वाहनों की लंबी कतार लग गई एंबुलेंस और प्रतिभा से जाम में फंसी रही बस में भूखे प्यासे यात्री तड़पते रहे

तीन बच्चों के सर से उठा पिता का साया

त्रिभुवन के मौत हो जाने के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है इलाके के ग्रामीणों को एक ही चिंता सता रही है कि आखिर पुत्र दीपक राम 14 बर्ष मुन्ना राम 13 बर्ष व गुड़िया कुमारी 12 बर्ष बच्चों का सहारा कौन बनेगा बच्चों के सर से पिता का साया उठ गया और परिवार को देखने वाला कोई नहीं अब कैसे होगा बच्चों का परवरिश
पत्नी की रो रो कर बुरा हाल

त्रिभुवन की मौत हो जाने के बाद सूचना मिलते ही पत्नी ममता देवी बार-बार दहाड़ मार कर रो रही थी बार-बार बेहोश हो जाती हो बार-बार कह रही थी कि हमरा के छोड़ के कहां चल गइले अब हम केकरा सहारे रहेंम पूरे गांव में चीत्कार में डूबा है

मजदूरी करके परिवार का करता था भरण-पोषण

 

त्रिभुवन मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था टैंट लगाने का काम करके किसी तरह अपने परिवार का परवरिश करता था उन्हें क्या पता था कि रास्ते में ही उसकी मौत हो जाएगी त्रिभुवन अपने घर से किसी काम को लेकर बखरी गांव गए थे जैसे ही सासामुसा बजरंग टॉकीज के समीप आये कि तेज गति से आ रही अज्ञात वाहन ने ठोकर मार दी जिससे मौत हो गई

आश्वासन के बाद मामला शांत

 

कुचायकोट बीडीओ थानाध्यक्ष ने चार लाख मुआवजा राशि दिलाने व बीडीओ के द्वारा बीस हजार का चेक देने का आश्वासन दिया गया थानाध्यक्ष कुचायकोट ने ₹5000 दाह संस्कार के लिए नगद राशि दी,

LEAVE A REPLY