पूर्व सांसद आनंद मोहन व लवली आनंद के छोटे बेटे अंशुमान मोहन बहुत जल्द बॉलीबुड में डेव्यू करने वाले हैं। बेहद खूबसूरत और गठीले बदन वाले अंशुमान मोहन, पहले से ही फिल्मी हीरो दिखते हैं। रोजाना जिम, योगा और विभिन्य तरह के कसरतों को अपने रूटीन में शामिल रखने वाले अनुशुमान मोहन अभी स्कॉलरशिप के जरिये ब्रिटेन नॉर्थम्ब्रिया यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल रिलेशनशिप (पोलिटिकल साईंस) विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हैं। गौरतलब है कि इनकी स्कूली शिक्षा देश के श्रेष्ठ संस्थानों में से एक बेलहम ब्वाईज स्कूल देहरादून से हुई है। आगे की पढ़ाई इन्होंने जय हिन्द कॉलेज मुम्बई से की, जिस कॉलेज से सुनील दत्त, प्रियंका चोपड़ा, जॉन अब्राहम, ऐश्वर्या राय जैसी फिल्मी हस्तियों ने पढ़ाई की है। बताना लाजिमी है कि अंशुमान मोहन राष्ट्रीय स्तर के बेस्ट फुटबॉलर हैं और कई नेशनल मैच भी खेल चुके हैं। यही नहीं, ये पिस्टल शूटिंग में देश के गोल्ड मेडलिस्ट भी रहे हैं। अंशुमान मोहन विलक्षण प्रतिभा के धनी हैं लेकिन वे विद्रोही प्रवृति के है। उनके पिता आनंद मोहन बिहार ही नहीं बल्कि देश की राजनीति में एक दमदार हस्ती रहे हैं। आनंद मोहन के कद्दावर राजनीतिक वजूद और सर्वसमाज के बीच गहरी पैठ की वजह से साजिशतन, उन्हें कुछ राजनेताओं ने एक गलत मुकदमें में फँसवाकर, आजीवन कारावास की सजा करवा दी। चट्टानी और हिमालय जैसा कलेजा रखने वाले आनंद मोहन ने न्यायपालिका का सम्मान कर, सजा को अंगीकार कर लिया लेकिन किसी राजनेता के सामने घूँटने नहीं टेके। आनंद मोहन की सजा अब लगभग पूरी हो चुकी है और कयास लगाया जा रहा है कि इस साल बिहार चुनाव से पहले किसी भी वक्त उनकी रिहाई हो जाएगी।पिता के साथ हुए अन्याय को अंशुमान मोहन ने अपनी आत्मा में चस्पां कर रखा है। सूत्रों के हवाले से जो हमें जानकारी मिल रही है, उसके मुताबिक अंशुमान मोहन महाराष्ट्र में शिवसेना और मनसे के द्वारा लगातार बिहारियों के अपमान किये जाने से भी बेहद खफा रहते हैं लेकिन 14 जून को बॉलीबुड के नामी बिहारी अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने उन्हें भीतर से हिलाकर रख दिया है। अंशुमान मोहन बॉलीबुड में खुद को स्थापित कर, एकतरफ जहाँ नेपोटिज्म को खत्म करना चाहते हैं वहीँ दूसरी तरफ सुशांत सिंह राजपूत की मौत का बदला भी लेना चाहते हैं। गौरतलब है कि बॉलीबुड से लेकर पूरे महाराष्ट्र में बिहार, यूपी, एमपी सहित अन्य हिंदी भाषी प्रदेशों के कलाकारों, मजदूरों और आम लोगों के साथ बेहद खराब व्यवहार किये जाते हैं। अंशुमान मोहन, इस बात को लेकर काफी दुःखी रहते हैं और कई बार इसको लेकर तल्ख बयान भी देते रहे हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद, अंशुमान मोहन ने कहा था कि बॉलीबुड के नेपोटिज्म और कुछ लोगों के वर्चस्व को ध्वस्त करना जरूरी है।उन्होंने यह भी कहा था कि सलमान खान, कारण जौहर, महेश भट्ट और आलिया भट्ट जैसे कलाकारों की मूवी बिहार, यूपी सहित किसी भी हिंदी भाषी प्रदेश में रिलीज नहीं होने देना चाहिए। याबी के दौर में बॉलीबुड की अपसंस्कृति को पूरी तरह से बदलने की जरूरत है। अंशुमान मोहन की माँ लवली आनंद भी पूर्व सांसद हैं और फिलवक्त बिहार की राजनीति में काफी सक्रिय हैं। अंशुमान मोहन के बड़े भाई चेतन आनंद भी उच्च शिक्षा लेकर राजनीति में है। इकलौती बड़ी बहन सुरभि आनंद, माननीय उच्चतम न्यायालय में वकील हैं लेकिन उनका जज बनना तय है। हांलांकि अंशुमान मोहन ने बॉलीबुड में अपनी इंट्री को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया है लेकिन हमारे सूत्र बेहद मजबूत और पुख्ता हैं। अंशुमान मोहन अपनी पढ़ाई खत्म करते ही बॉलीबुड में धमाकेदार इंट्री मारेंगे और अभिनय को ही अपना कैरियर बनाएंगे। अंशुमान मोहन बिना किसी गॉड फादर के, अभिनय क्षेत्र में बड़ी जगह बनाना चाहते हैं। उनका कद-काठी और धारा प्रवाह उनकी अंग्रेजी और हिंदी, उन्हें अभिनय के क्षेत्र में बड़ी मदद पहुँचाएंगी। बचपन से जिद्दी और जुनूनी स्वभाव के रहे अंशुमान मोहन, अपनी मेहनत से बॉलीबुड में एक बड़ी लकीर खींच सकते है।

LEAVE A REPLY