पटना इस वक्त की बड़ी खबर हम आपके सामने लेकर आए हैं, कोरोना संकटकाल के कारण स्कूलों में जहां तालाबंदी से शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई वही बिहार सरकार की शिक्षा विभाग ने बिहार राज्य के ढाई करोड़ विद्यार्थियों के लिए विद्या वाहिनी ऐप को बनाया गया है, बता दें कि करोना संकटकाल को देखते हुए शिक्षा विभाग के सहयोग से लॉक डाउन के दौरान विद्यार्थियों और शिक्षकों की सहूलियत को देखते हुए बिहार राज्य पाठ्य पुस्तक निगम लिमिटेड ने इसकी उपयोगिता बताई है.जिसके बाद अब बिहार राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले सभी शिक्षकों और विद्यार्थियों को अपने-अपने एंड्राइड मोबाइल पर यह विद्यावाहिनी एप डाउनलोड करना होगा.
जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि यह ऐप विद्या वाहिनी शिक्षकों और विद्यार्थियों दोनों के लिए बेहद उपयोगी होगा ,इसमें कक्षा एक से बारहवीं तक के सभी पाठ्य पुस्तकों को चैप्टर वाइज संग्रहित किया गया है, ताकि छात्र-छात्राओं को पढ़ाई करने में सहूलियत हो.
इतना ही नहीं अध्ययनरत छात्र-छात्रा हर अध्याय का अपना नोट तथा सवाल-जवाब बनाकर भी इस एप में संग्रहित कर सकते हैं ,कोरोना काल में बच्चों की पढ़ाई में अब और कठिनाई ना हो और उनका सिलेबस टाइम से खत्म हो इस को ध्यान में रखते हुए निगम के एमडी तथा प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ रंजीत कुमार सिंह ने बिहार के सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को आदेश दिया है कि वह अपने अपने जिले के सभी शिक्षकों को अनिवार्य रूप से ऐप डाउनलोड करने को निर्देशित करें इतना ही नहीं इस ऐप के डाउनलोड करने के निर्देशन को लेकर भी बखूबी समझाया गया है, इस ऐप को डाउनलोड करने के लिए एंड्राइड मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर में जाकर आप विद्या वाहिनी ऐप डाउनलोड कर सकते हैं, साथ ही शिक्षा विभाग और पाठ्य पुस्तक निगम लिमिटेड की वेबसाइट पर भी इसका लिंक दिया गया है, जिसको मोबाइल पर क्लिक करने के बाद आप डाउनलोड कर लेंगे,

Kumar pradeep.

LEAVE A REPLY