टंकी ब्लास्ट होते ही ग्रामीणों में फूटा आक्रोश वार्ड लगा रहा मुखिया पर आरोप.

सुनामी एक्सप्रेस
मनीष वर्मा.

सीएम नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट नल जल योजना में धांधली और लूट का सिलसिला लगातार जारी है, यह पहला मामला नहीं है कि जहां इस योजना में कोताही बरती गई हो, इसके पहले भी जिले के कई पंचायत क्षेत्रों में नल जल योजना में धांधली के संकेत मिले हैं, वही इस मामले को लेकर जदयू के प्रदेश महासचिव सह पूर्व बैकुंठपुर विधायक मंजीत सिंह ने नल जल योजना में धांधली को लेकर पटना प्राधिकार में केस भी दर्ज किया है, इसके बावजूद भी नल जल योजना में धांधली के संकेत सामने आते नजर आ रहे हैं. पदाधिकारियों की बात करें तो धांधली को लेकर शिकायत पत्र के बावजूद भी खानापूर्ति कर अधिकारी चुप्पी साध लेते हैं.


मामला सिधवलिया प्रखंड के काशीटेगराही गांव से प्रकाश में आया है ,जहां नल जल योजना की टंकी ब्लास्ट हो जाने के बाद ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा और घर से सड़क पर निकल आए, ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि 1 माह पूर्व नल जल योजना का कार्य पूर्ण कर गांव में पानी की सप्लाई दी गई थी लेकिन घटिया कार्य होने के कारण एक माह बीतते ही नल जल योजना का टंकी ब्लास्ट कर गया, बताया जाता है कि नल जल योजना में,पंचायत के मुखिया पति धर्मेंद्र मिश्रा द्वारा नल जल योजना का कार्य अपने पंचायत में कार्य कराया गया था,

लेकिन आज सुबह टंकी में मोटर से पानी भरा जा रहा था,इसी दौरान टंकी धड़ाम से ब्लास्ट कर गया, वही टंकी बलास्ट की खबर ग्रामीणों को मिलते ही ग्रामीण घर से निकल सड़क पर आ कर प्रदर्शन करने लगे, वहीं इस मामले को लेकर वार्ड नंबर 6 के वार्ड सदस्य से बात की गई तो उन्होंने मुखिया पर ही गंभीर आरोप लगाया उन्होंने बताया कि कार्य में कोताही बरती गई है, इस मामले को लेकर कई बार वरीय पदाधिकारियों को सूचना दी गई है लेकिन

प्रशासनिक अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है, वहीं इस मामले में पंचायत के मुखिया धर्मेंद्र मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नल जल योजना का कार्य वार्ड सदस्य के जिम्मे है. इसमें मुखिया की कोई भूमिका नहीं है. वार्ड सदस्य द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है,

LEAVE A REPLY