भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट में अब सबकी नजरें अजिंक्य रहाणे की ओर ही लग गई हैं. उनकी कप्तानी की भी तारीफ हो रही है, वहीं उन्होंने जिस तरह से शतक पूरा किया और अभी तक आउट नहीं हुए हैं, उसने भी सबको प्रभावित किया है. इस बीच लगातार तीन टेस्ट की कप्तानी अजिंक्य रहाणे ही करते हुए नजर आएंगे. क्योंकि विराट कोहली वापस भारत लौट आए हैं, वे जनवरी में पिता बनने वाले हैं. इस बीच इशारों ही इशारों में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने विराट कोहली पर भी टिप्पणी कर दी और कहा कि अगर वे कप्तानी छोड़ते हैं तो वे और भी खतरनाक बल्लेबाज बन जाएंगे. हालांकि उन्होंने अपनी बात इशारों में ही रख दी है. इससे पहले भी विराट कोहली की कप्तानी पर कहीं न कहीं से सवाल उठते ही रहे हैं. यहां ये भी ध्यान रखने की बात है कि अजिंक्य रहाणे का टेस्ट में कप्तानी का रिकार्ड सौ फीसदी है, यानी वे अपनी कप्तानी में एक भी टेस्ट नहीं हारे हैं. इस मैच में भी टीम इंडिया मजबूत स्थिति में है. 

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा कि एडीलेड में करारी शिकस्त झेलने के बाद बॉक्सिंग डे टेस्ट के दूसरे दिन रविवार को कप्तान अजिंक्य रहाणे ने शतकीय पारी खेलकर भारतीय टीम को फिर से संभालने के मामले में शानदार काम किया है. मैच के पहले दिन शानदार रणनीति के दम पर ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी को 195 रन पर समेटने के बाद भारतीय टीम ने अजिंक्य रहाणे की 104 रन की नाबाद पारी के दम पर दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद पांच विकेट पर 277 रन बनाकर 82 रन की बढ़त हासिल कर ली है.

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा कि एडीलेड के पहले टेस्ट की निराशा के बाद अजिंक्य रहाणे ने टीम को फिर से संभालने के मामले में बेहतरीन काम किया है. उन्होंने मैच के पहले दिन फील्डिंग के समय टीम का शानदार नेतृत्व किया और फिर आप देख सकते है कि वह एक जिम्मेदार कप्तान की तरह खेल रहे हैं और शतक भी पूरा कर ही लिया है. उन्होंने कहा, वह कप्तानी पारी खेलना चाहते हैं. वह नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में शतक लगाकर अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते है जिससे उनका देश सीरीज में वापसी कर सके. 

अजिंक्य रहाणे ने अपनी पारी के दौरान 12 आकर्षक चौके लगाए, लेकिन रिकी पोंटिंग ने उनकी रक्षात्मक खेल की तारीफ की. ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व दिग्गज ने कहा कि रहाणे ने चेतेश्वर पुजारा की तरह की पारी खेली. वह कोई जोखिम नहीं लेना चाहते थे. उन्होंने कम बाउंड्री लगाई और अपने रक्षात्मक खेल पर भरोसा कर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के मनोबल को कम किया. रहाणे ने अपने कप्तानी कौशल से प्रभावित किया लेकिन पोंटिंग का मानना है कि पितृत्व अवकाश से लौटने के बाद कोहली फिर से टीम की बागडोर संभालेंगे. 

रिकी पोंटिंग ने कहा कि विराट कोहली जब तक चाहे तब तक टीम की कप्तानी करेंगे, लेकिन अगर उन्होंने बेहतर खिलाड़ी बनने के लिए इसे छोड़ने का फैसला किया तो यह विश्व क्रिकेट में गेंदबाजों के लिए काफी डरावना होगा. उन्होंने कहा कि मैं विराट कोहली की कप्तानी कौशल पर सवाल नहीं कर रहा हूं लेकिन यह कहने की कोशिश कर रहा हूं कि इस तरह से टीम को संभालने के लिए आप में कुछ खास होना चाहिए, जैसा की अजिंक्य रहाणे ने अब तक किया है.

ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने शानदार शतक पूरा कर लिया है, लेकिन वे अभी तक नाबाद हैं. इस बीच टीम इंडिया की लीड 82 रन की हो गई है और टीम मजबूत स्थिति में है. इसके साथ ही अजिंक्य रहाणे की कप्तानी की भी तारीफ होने लगी है, उनकी बल्लेबाजी पर तो पहले भी किसी को शक नहीं था. अब पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि भारत के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे बतौर कप्तान अपनी रणनीति को लेकर काफी आक्रामक हैं.

LEAVE A REPLY