कुंज बिहारी,मिश्रा

भोरे थाना क्षेत्र के सिसई गांव के पास अक्टूबर में मिले सुखलाल के शव के मामले में आखिरकार कोर्ट के आदेश के बाद 14 माह बाद हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गयी है. यह प्राथमिकी सुखलाल से की मां नूरजहां बीवी ने दर्ज करायी है. वहीं पुलिस कोर्ट के आदेश के बाद प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

बताया जाता है कि 28 अक्टूबर 2019 को भोरे पुलिस को भोरे – भिंगारी मुख्य पथ पर सिसई गांव के पास एक 45 वर्षीय व्यक्ति का शव मिला था. जिसके सिर पर किसी भारी चीज से प्रहार कर उसे मौत के घाट उतार दिया गया था. पुलिस ने शव की पहचान पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के बेलदंगा थाना क्षेत्र के बिलधर पाड़ा गांव निवासी शेख अनार के पुत्र सुखलाल शेख के रूप में की थी. शव की पहचान उसी गांव के अजीबुर शेख ने किया था. बाद में पुलिस ने पोस्टमार्टम करा कर शव को परिजनों के हवाले कर दिया था.

हालांकि इस मामले में स्थानीय थाने में कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी थी. इसके बाद मृतक की मां नूरजहां बीवी ने कोर्ट में पुत्र के हत्या को लेकर अर्जी दी. जिसके बाद कोर्ट ने मामले में स्थानीय थाने को प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया. नूरजहां बीवी ने आरोप लगाया है कि उसी के गांव के अशराफुल शेख, आलम शेख, कादिर शेख और हैदर अली उससे एक लाख रुपए उधार लिए थे. काफी दिन बीत जाने के बाद जब उन्होंने पैसा वापस नहीं किया,

तो पैसा वापसी को लेकर गांव में एक पंचायत हुयी थी. पंचायत के दौरान उक्त लोगों ने उसके पुत्र सुखलाल शेख को भोरे में ले जाने की बात कही और कपड़ा, खिलौना आदि बेचकर वही पैसे देने का भरोसा दिया था. फिर उसे साथ लेकर भोरे चले आये. लेकिन इसके बाद भी सुखलाल शेख से परिजनों का संपर्क नहीं हुआ. बाद में 28 अक्टूबर को उसका शव सिसई के पास बरामद किया गया था. मामले में नूरजहां बीवी के बयान पर चार लोगों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

 

LEAVE A REPLY