विजय शुकुळा।

Report-मुंगेर में पिछले साल अक्टूबर में दुर्गा पूजा प्रतिमा विसर्जन के दौरान गोलीकांड एवं लाठीचार्ज की घटना को लेकर पटना हाईकोर्ट ने सरकार के रवैये और पुलिस की जांच को लेकर सख्त नाराजगी जाहिर करते हुए,बडा फैसला सुनाया है,हाईकोर्ट ने कहां है कि इस मामले कि जांच CID जारी रखेगी औऱ उसकी मॉनिटरिंग हाईकोर्ट खुद करेगीlइसके साथ ही मुंगेर के मौजूदा एसपी, कोतवाली थानेदार के साथ ही गोलीकांड से जुड़े तमाम पुलिस अधिकारियों का तबादला तत्काल करते हुए पीड़ित परिवार को ₹10 लाख मुआवजा देने का निर्देश दिया हैlज्ञात हो पिछले साल अक्टूबर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान गोलीकांड एवं लाठीचार्ज के दौरान श्रद्धालु अनुराग पोद्दार की मौत एवं कई श्रद्धालु घायल हो गए थेl मतदान से दो दिन पहले दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के समय हुए गोलीकांड एवं लाठीचार्ज मैं एक की मौत के बाद मुंगेर जल रहा था।घटना से नाराज भीड़ द्वारा कई थानों पर आगजनी एवं पथराव किया गया था,निर्वाचन आयोग ने भड़की हिंसा के बाद हालात पर काबू पाने के लिए मुंगेर के डीएम और एसपी को हटाने के निर्देश दिए थे साथ ही घटना की जांच आईएएस असंगवा चुआ आवो को सौंपी थीlइसके बाद राज्य सरकार द्वारा आईएएस रचना पाटिल को डीएम और आईपीएस मानवजीत सिंह ढिल्लो को नया एसपी नियुक्त कर तत्काल हेलीकॉप्टर से मुंगेर भेजकर हालात पर काबू पाने के लिए 3 जिलों की पुलिस बल को लगाया गया थाlडीआईजी मनु महाराज सड़क पर उतर कमान संभाली थीl वही,एसपी लिपि सिंह को हटाकर बिहार पुलिस मुख्यालय में योगदान करने का निर्देश दिया गया,इस दौरान लगातार दोषी पुलिसकर्मियों समेत पूर्व एसपी लिपि सिंह पर कार्रवाई की मांग हो रही थी सरकार ने तत्काल एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए, वहीं मृतक अनुराग पोद्दार के पिता अमरनाथ पोद्दार द्वारा घटना के संबंध में कोतवाली थाना में मामला भी दर्ज कराया गया थाlजांच से असंतुष्ट होकर अनुराग पोद्दार के पिता अमरनाथ पोद्दार ने 6 जनवरी 2021को पटना हाईकोर्ट में तत्काल सुनवाई के लिए क्रिमिनल रिट याचिका दायर की थीlपरंतु तत्काल सुनवाई नहीं होने के कारण अनुराग की मां ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी. 25 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए पटना हाईकोर्ट से कहा कि वह दो महीने में सुनवाई पूरी करे.इसके बाद पटना हाईकोर्ट ने मामले पर सुनवाई शुरू कीlहाईकोर्ट के फैसले के बाद मुंगेर की पूर्व एसपी लिपि सिंह के मुसीबत में फंसने के आसार नजर आ रहे हैं,जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह की बेटी लिपि सिंह के एसपी रहते ही मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान गोलीकांड एवं लाठीचार्ज हुई थीl वही मामले की जांच कर रही सीआईडी ने 4 दिन दिन पहले ही एसपी लिपि सिंह को सिंह को क्लीन चिट दी हैl
घटनास्थल पर तैनात सीआईएसएफ की टीम ने घटना को लेकर अपने आलाधिकारियों को जो रिपोर्ट सौंपी है उस रिपोर्ट में स्पष्ट कहा गया है कि फायरिंग की शुरुआत मुंगेर पुलिस ने की थी. बाद में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवानों ने भी फायरिंग की. दरअसल चुनाव के मद्देनजर मुंगेर में सीआईएसएफ की टीम को तैनात किया गया था. मुंगेर की एसपी लिपि सिंह ने दुर्गा प्रतिमा विर्सजन जुलूस के दौरान इस टीम को सुरक्षा कार्यों में तैनात किया था. इसके मद्देनजर ही सीआईएसएफ के डीआईजी ने अपनी रिपोर्ट मुख्यालय को भेजी हैl

 

LEAVE A REPLY