Breaking
एक्ट्रेस नोरा फतेही ग्रीन साड़ी में दिखीं बेहद खूबसूरत.. अयोध्या में लता चौक के उद्घाटन के लिए लता मंगेशकर के परिजनों को आमंत्रित किया गया चीन के एक रेस्तरां में लगी भीषण आग, 17 लोगों की मौत स्वतंत्रता सेनानी स्व.बैनीपाल के पत्नी को किया सम्मानित; बोले-गोवा कभी नहीं भुला सकता स्वतंत्रता सेन... चन्नी ने कहा 24 घंटे फोन पर उपलब्ध; CM मान व पंजाब सरकार ने नहीं किया संपर्क चित्रा रामकृष्ण व आनंद सुब्रमण्यम को हाईकोर्ट से मिली जमानत गाजियाबाद में एलिवेटेड रोड पर रात में हो रहा था जश्न, आठ गाड़ियां सीज युवराज सिंह ने बद्रीनाथ संग झील में लिया बोटिंग का मजा कहा- दुर्घटना में घायल मरीज के साथ आए लोगों ने किया हंगामा और अभद्रता गत्ते के डिब्बे बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Corrugated Cardboard Box Making Business in Hindi

स्वस्थ प्रतिस्पर्धा: बच्चों को दिया जाएगा स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र, छह वर्ष तक के बच्चे होंगे शामिल

Whats App

रायपुर। बच्चों के पोषण, स्वास्थ्य और वेलनेस के मुद्दों पर समुदाय को संगठित और संवेदनशील बनाने के लिए आगामी आठ से 14 जनवरी के मध्य 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों का स्वस्थ बालक -बालिका स्पर्धा का आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर किया जा रहा है।

इस स्पर्धा के लिए महिला बाल विकास के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सेक्टर पर्यवेक्षण और परियोजना अधिकारियों की कलेक्टर सौरभ कुमार ने बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देंश दिए। कलेक्टर ने बच्चों के सुपोषण के लिए सभी को बेहतर कार्य करने पर जोर दिया और कहा कि अगले महीने होने वाली इस राष्ट्रीय स्पर्धा में शामिल होने में कोई बच्चा छूट न जाए। उन्होंने इस स्पर्धा में महिला बाल विकास विभाग के सभी अधिकारी-कर्मचारियों को पूरी गुणवत्ता के साथ अपना योगदान देने को कहा।

सामुदायिक भागीदारी जरूरी

Whats App

कलेक्टर ने कहा कि सामुदायिक भागीदारी के लिए यह आवश्यक है कि पोषण संबंधी सकारात्मक मुद्दों को उजागर किया जाए, जिससे स्वस्थ बच्चे की पहचान और उसके प्रदर्शन पर जोर दिया जा सके। बच्चों के बीच स्वास्थ्य और पोषण को बढ़ावा देने के लिए माता-पिता के बीच प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा करना भी आवश्यक है। इससे आम जनता में निरंतर सामुदायिक जुड़ाव और जागरूकता पैदा होगी तथा बच्चों के पोषण की स्थिति में सुधार होगा।

इसी तरह समेकित बाल विकास योजना के सेवाओं से छूटे हुए बच्चों को योजना के तहत पंजीकृत होने से लाभ प्राप्त होगा। इस स्पर्धा से छह साल तक के बच्चों की ऊंचाई, वजन और उम्र के डेटाबेस को मजबूत बनाने में भी सहायता मिलेगी। इससे रायपुर जिले में बौनापन, दुबलापन और कम वजन वाले बच्चों की पहचान हो सकेगी। इसके आधार पर उनके स्वास्थ्य सुधार पर जोर दिया जाना भी संभव होगा।

पोषण ट्रेकर एप 11.0 को डाउनलोड कर लें हिस्सा

इस राष्ट्रीय स्पर्धा में पोषण ट्रेकर एप 11.0 को डाउनलोड कर हिस्सा लिया जा सकता है। बच्चों की वृद्धि, निगरानी आंगनबाड़ी केंद्र, पंचायत, शासकीय और निजी स्कूल तथा पीएचसी या अन्य स्थानों में की जा सकेगी। इसके परिणाम को एंट्री पोषण ट्रैकर एप पर आनलाइन की जाएगी। इस परिणाम को बच्चों के पालकों को प्रमाण-पत्र के रूप में दिया जाएगा। बैठक में जिला स्तरीय महिला बाल विकास समिति की अध्यक्ष केशरी मोहन साहू, सदस्य अनिता साहू, खेमराज कोसले, जिला कार्यक्रम अधिकारी ए.के. पांडेय सहित संबंधित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

एक्ट्रेस नोरा फतेही ग्रीन साड़ी में दिखीं बेहद खूबसूरत..     |     अयोध्या में लता चौक के उद्घाटन के लिए लता मंगेशकर के परिजनों को आमंत्रित किया गया     |     चीन के एक रेस्तरां में लगी भीषण आग, 17 लोगों की मौत     |     स्वतंत्रता सेनानी स्व.बैनीपाल के पत्नी को किया सम्मानित; बोले-गोवा कभी नहीं भुला सकता स्वतंत्रता सेनानियों की सहादत | Ambala News: Goa CM Pramod Sawant arrives in Ambala Honored wife of freedom fighter Late Karnail Singh Benipal     |     चन्नी ने कहा 24 घंटे फोन पर उपलब्ध; CM मान व पंजाब सरकार ने नहीं किया संपर्क     |     चित्रा रामकृष्ण व आनंद सुब्रमण्यम को हाईकोर्ट से मिली जमानत     |     गाजियाबाद में एलिवेटेड रोड पर रात में हो रहा था जश्न, आठ गाड़ियां सीज     |     युवराज सिंह ने बद्रीनाथ संग झील में लिया बोटिंग का मजा     |     कहा- दुर्घटना में घायल मरीज के साथ आए लोगों ने किया हंगामा और अभद्रता     |     गत्ते के डिब्बे बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Corrugated Cardboard Box Making Business in Hindi     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374