Breaking
जिंदा जलकर मौत; आत्महत्या के पीछे की वजहों को खंगाल रही पुलिस भैसदेही, आठनेर, भीमपुर में हुई फसलें खराब, किसानों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मांगा मुआवजा नवरात्रि उपवास के दौरान रखें इन बातों का ध्यान दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि केन्द्र सरकार की अपील-सुप्रीम कोर्ट से सीओए को हटाए कच्चे तेल में ‎गिरावट के बाद भी पेट्रोल और डीजल की कीमत नहीं हुई कम मूनलाइटिंग को लेकर एक और उद्योगपति ने कहा- डेटा की सुरक्षा से समझौता करना पाप होगा भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने झूलन को जीत के साथ विदायी दी मंत्री बोले; प्रधानमंत्री एसएसी अभ्युदय योजना पहली बार दलित आर्थिक एजेण्डा के रूप में लागू श्राद्ध पक्ष में तीर्थ पर पिंडदान कर मांगी सुखद भविष्य की कामना

कठिन अनुशासन और डाइट चार्ट के जरिए 13 वर्ष के यशवर्धन चौहान बने रन मशीन

Whats App

इंदौर। मात्र 13 साल की उम्र में रनों का अंबार लगाने वाले चंबल के यशवर्धन चौहान की सफलता की चर्चा देशभर में है। मगर यह सफलता तश्तरी में परोसकर नहीं मिली। खुद यशवर्धन और उनके कोच इसके लिए सिर्फ अभ्यास ही नहीं, खानपान और व्यायाम पर भी खास ध्यान देते हैं। अब यशवर्धन की सफलता के बाद मप्र क्रिकेट संगठन (एमपीसीए) भी जूनियर क्रिकेट के प्रति और भी ज्यादा सजग हो गया है। यशवर्धन के प्रदर्शन से चंबल की टीम ने एडब्ल्यू कनमड़ीकर ट्राफी के मुकाबले में इंदौर को पराजित कर फाइनल में कदम रखा। यशवर्धन ने बताया कि मैं बल्लेबाजी की तकनीक के साथ अपनी फिटनेस और डाइट पर पूरा ध्यान देता हूं। मेरे कोच नावेद खान और लवकेश चौधरी ने डाइट चार्ट बनाया है।

पौष्टिक चीजें ज्यादा खाता हूं, जिनमें प्रोटीन हो। सुबह मम्मी स्प्राउट्स टिफिन में रखकर देती हैं। हल्के अभ्यास के बाद यही नाश्ता होता है। इसके बाद दिन में आधा लीटर दूध, केले, अंडे आदि भी खाता हूं। शारीरिक व्यायाम करने के बाद डाइट लेता हूं क्योंकि तब शरीर को ऊर्जा की ज्यादा जरूरत होती है। मेरे भोजन में सोयाबीन और दाल की मात्रा ज्यादा होती है। चंबल के कोच नावेद बताते हैं, खिलाड़ियों के लिए फिटनेस महत्वपूर्ण है। बल्लेबाजी करते समय शरीर में ऊर्जा भी होना चाहिए। इसलिए हमने डाइट चार्ट बनाया है। यशवर्धन अनुशासित है। वह डाइट चार्ट का पूरा पालन करता है।

चंबल ने इंदौर को पारी और 318 रन से हराया

Whats App

चंबल की टीम ने इंदौर में खेले गए मैच में मेजबान टीम को पारी और 318 रनों से हराया। सोमवार को मैच के आखिरी दिन फालोआन खेलते हुए इंदौर की पारी 105 रनों पर सिमटी। चंबल के पहली पारी में 599 रनों के जवाब में इंदौर की पहली पारी 177 रनों पर सिमटी थी।

रनों की भूख ने प्रभावित किया

मध्य प्रदेश के मुख्य कोच चंद्रकांत पंडित ने बताया कि यशवर्धन में रनों की जो भूख है, वह प्रभावित करती है। वह दिनभर मैदान पर खड़ा रहता है, लगातार गेंदों का सामना करता है। वह अपनी उम्र के सभी बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत है। मप्र के अन्य खिलाड़ी भी हमारे लिए प्राथमिकता में हैं। 13 साल के बच्चों के लिए बोर्ड के टूर्नामेंट नहीं होते। अभी जो टूर्नामेंट चल रहा है, उसके बाद अकादमी के लिए खिलाड़ियों का चयन होगा। वहां हम यशवर्धन सहित अन्य खिलाड़ियों का हुनर निखारने के प्रयास करेंगे।

एमपीसीए की अकादमी में तराशे जाएंगे खिलाड़ी

मध्य प्रदेश क्रिकेट संगठन के सचिव संजीव राव ने बताया कि जूनियर खिलाड़ियों ने प्रदर्शन से प्रभावित किया है। हम एमपीसीए की अकादमी में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को विशेष ट्रेनिंग देते हैं। यहां खिलाड़ियों के रहने, भोजन और कोचिंग की विशेष व्यवस्था होती है। अकादमी के लिए चयनकर्ता खिलाड़ियों को चुनते हैं। इसके बाद इनकी तकनीक में सुधार किया जाता है। यशवर्धन बहुत प्रतिभाशाली है। अभी टूर्नामेंट चल रहे हैं, इसके बाद चयन करेंगे।

जिंदा जलकर मौत; आत्महत्या के पीछे की वजहों को खंगाल रही पुलिस     |     भैसदेही, आठनेर, भीमपुर में हुई फसलें खराब, किसानों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मांगा मुआवजा     |     नवरात्रि उपवास के दौरान रखें इन बातों का ध्यान     |     दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि     |     केन्द्र सरकार की अपील-सुप्रीम कोर्ट से सीओए को हटाए     |     कच्चे तेल में ‎गिरावट के बाद भी पेट्रोल और डीजल की कीमत नहीं हुई कम     |     मूनलाइटिंग को लेकर एक और उद्योगपति ने कहा- डेटा की सुरक्षा से समझौता करना पाप होगा     |     भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने झूलन को जीत के साथ विदायी दी     |     मंत्री बोले; प्रधानमंत्री एसएसी अभ्युदय योजना पहली बार दलित आर्थिक एजेण्डा के रूप में लागू     |     श्राद्ध पक्ष में तीर्थ पर पिंडदान कर मांगी सुखद भविष्य की कामना     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374