Breaking
इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं? अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता

गोपालगंज।15 वर्षो से अंधेरी कोठरी में बंद. मुन्ना के लिए मुस्कान बने थानेदार।

Whats App

प्रदीप शर्मा- गोपालगंज

गोपालगंज। अक्सर यह सुनने को मिलता है कि पुलिस डिप्टी करती है,अपराधियों में भय पैदा करने वाली बिहार पुलिस अपने कामों से जानी जाती है, लेकिन इस बीच बिहार पुलिस में भी कुछ ऐसे चेहरे हैं,जिन्होंने बखूबी डिप्टी के दौरान इंसानियत का मिशाल पेश किया है,
आज ऐसा ही एक वाक्या देखने को मिला है, जहां बिहार पुलिस के एक थानेदार ने मानवता का मिसाल पेश किया है,

जाहिर है पुलिस का नाम जुबान पर आते ही तमाम तरह की नकारात्मक छवि उभरकर आपके सामने आती होंगी, हालांकि इन सब के परे बिहार पुलिस का एक ऐसा चेहरा सामने आया है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, खबर बिहार के गोपालगंज जिले के उचकागांव का है,जहां 15 साल पूर्व एक शख्स सड़क दुर्घटना में
अपने पैरों को खो दिया, उसके बाद उसकी जिंदगी चारदीवारी के अंधेरों में कटने लगी, क्षेत्र भ्रमण के दौरान थानाध्यक्ष अब्दुल मजीद को उन चार दीवारों के अंदर से एक आवाज मिली, फिर वाहन को रोका,और कुछ ग्रामीणों से बात की, जानकारी मिलने के बाद
थाना अध्यक्ष ने इंसानियत का मिशाल पेश करते हुए
जो दिव्यांग के लिए किया, वह काबिले तारीफ है,

Whats App


दिव्यांग मुन्ना सिंह को व्हीलचेयर देकर उनके जीवन को सरल बनाने की यह अनोखी कोशिश कि आज सराहना सब कर रहे हैं, हालांकि इस अनोखी पहल को लेकर सुनामी एक्सप्रेस की टीम ने जब थाना अध्यक्ष से बात की तो,उन्होंने कहा कि, व्हीलचेयर प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य यह था कि जो शख्स आज 15 साल से अंधेरी कोठरी मैं खुद को असहज महसूस कर रहा है उसे जीने की चाहत मिल जाए,

उसके जीवन में कुछ तो रोशनी आए,जिससे वह अपने आप को कभी अ सहज महसूस ना करें,वह फिर से उन सबके बीच जाए, जिनसे वह आज 15 साल के अंदर कभी नहीं मिल पाया, हालांकि इस दौरान सीतापुंज फाउंडेशन से अखिलेश पांडे,त्रिलोकी ठाकुर, नीतीश कुमार, अभिषेक सिंह, सहित दर्जनों लोग उचकागांव थाना कैंपस में मौजूद रहे, थाना अध्यक्ष द्वारा व्हीलचेयर मिलने के बाद दिव्यांग मुन्ना सिंह के चेहरे पर अनोखी खुशी देखी गई, जिस मुस्कान का श्रेय, थाना अध्यक्ष अब्दुल मजीद को हो ही जाता है।

इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस     |     बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी     |     हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं?     |     अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस     |     गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस     |     बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन     |     पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी     |     तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम     |     आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत     |     देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374