Breaking
85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला? कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई  लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या  सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम 2 बच्चों की मां को पड़ोसी ने बनाया शिकार; 2 अन्य धाराओं में भी सजा-जुर्माना

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, सामने आए 28, 867 नए केस, 31 लोगों की मौत

Whats App

राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है। आज यहां 28 हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए आंकड़ों के मुताबिक, ‘दिल्ली में बीते 24 घंटों में कोविड-19 के 28,867 नए केस दर्ज किए गए हैं। इस दौरान कोरोना से 31 लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। दिल्ली में इस समय 94,160 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। दिल्ली में सकारात्मकता दर बढ़कर 29.21 % पहुंच गई है। कोरोना से अब तक 22,121 लोग ठीक होकर घरों को लौट गए हैं। दिल्ली में कोरोना महामारी से अभी तक 25, 271 मौतें हो चुकी हैं।

दिल्ली में नहीं लगेगा लॉकडाउन-  स्वास्थ्य मंत्री
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन कहा कि दिल्ली में फिलहाल लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि कोविड मामलों में कमी आने के बाद हम लगाई गई पांबदियों को भी जल्द हटा देंगे। महामारी से हुई मौत आंकड़ों के विश्लेषण के अनुसार, जान गंवाने वालों में ज्यादातर वे लोग हैं जिन्हें अन्य बीमारियां भी थीं। राष्ट्रीय राजधानी में इस महीने के पहले 12 दिनों में 133 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले पांच महीनों में 54 लोगों की मौत हुई। इनमें से नौ की दिसंबर में, सात की नवंबर में, चार की अक्टूबर में, पांच की सितंबर में और 29 लोगों की मौत अगस्त में हुई। जुलाई में संक्रमण से दिल्ली में 76 लोगों ने जान गंवायी।

Whats App

जैन ने कहा कि मामलों में जल्द ही गिरावट आनी शुरू हो सकती है। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘पिछले चार दिनों में अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या स्थिर हो गयी है। मामले बढ़ रहे हैं लेकिन अस्पताल में भर्ती मरीजों की दर उसी अनुपात में नहीं बढ़ी है। जब 27,000 मामले आ रहे हैं तो अस्पताल में भर्ती मरीजों की दर उतनी ही है जितनी 10,000 मामले सामने आने के समय थी। अस्पताल में भर्ती मरीजों की स्थिर दर यह संकेत देती है कि कोरोना वायरस की यह लहर स्थिर हो गयी है।”

85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई     |     अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?     |     कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग     |     ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया     |     धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु     |     दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी     |     विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई      |     लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या      |     सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम     |     2 बच्चों की मां को पड़ोसी ने बनाया शिकार; 2 अन्य धाराओं में भी सजा-जुर्माना     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374