Breaking
आंखों में मिर्ची डालकर ले गए डेढ़ लाख रुपए, पुलिस तलाश में जुटी मुख्यमंत्री चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर नमन किया 15 साल की किशोरी रेप, मंडीदीप, रायसेन में छिपकर करता रहा मजदूरी 21वीं राज्य स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा के लिए चुने गए जिले के खिलाड़ी इन घरेलू उपायों से मोटापा करें कम महेंद्रगढ़ में सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनाया घर जमींदोज, पुलिस फोर्स रही मौजूद समाज के हर वर्ग के लिए काम कर रही सरकार- पंकज चौधरी सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से की सौजन्य मुलाकात प्रसव के लिए रुपये लेने का आरोप एंटी भू-माफिया के तहत तीन के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई

भीम आर्मी के चंद्रशेखर का भी सपा के साथ गठबंधन का एलान, बोले- भाजपा को हराना लक्ष्य

Whats App

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में पहले चरण के मतदान से पहले ही विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ एकजुट हो रहे हैं। लखनऊ में शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य व धर्म सिंह सैनी के छह विधायकों के साथ सपा में शामिल होने से पहले भीम आर्मी के चंद्रशेखर ने भी अखिलेश यादव से मुलाकात की थी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से शुक्रवार को दूसरी भेंट के बाद भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने बड़ी घोषणा कर दी। चंद्रशेखर ने कहा कि हमने भी इस विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया है। हम इस गठबंधन के बाद अब भाजपा को हराएंगे। जल्दी ही अखिलेश यादव के साथ मिलकर सीटें भी तय कर लेंगे। समाजवादी पार्टी के साथ भीम आर्मी का गठबंधन हो गया है।

चंद्रशेखर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दलित वर्ग में बड़ी पकड़ रखते हैं। युवा नेता के रूप में विख्यात चंद्रशेखर लखनऊ से लेकर मेरठ तथा सहारनपुर में काफी एक्टिव हैं। वह कांग्रेस के साथ भी सम्पर्क में थे। इसके बाद समाजवादी पार्टी के साथ उनकी गठबंधन की बात काफी समय से चल रही थी। उनका सपा के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ सीटों को लेकर पेंच फंसा है। समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में पिछड़े वर्ग के बड़े चेहरे तो हैं, लेकिन दलित वर्ग के बड़े चेहरे की कमी को चंद्रशेखर की पार्टी के गठबंधन ने पूरा कर दिया है। चंद्रशेखर की पार्टी के साथ गठबंधन को समाजवादी पार्टी तो बसपा की काट भी मान रही है।

Whats App

अखिलेश यादव से भेंट के बाद भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर ने कहा कि एकता में बड़ा दम है। मजबूती और एकता के बगैर भाजपा और बसपा को हराना आसान नहीं है। गठबंधन के अगुवा का दायित्व होता है कि वो सभी समाज के लोगों के प्रतिनिधित्व और सम्मान का खयाल रखें। दलित वर्ग अखिलेश यादव से इस जिम्मेदारी को निभाने की अपेक्षा रखता है।

आंखों में मिर्ची डालकर ले गए डेढ़ लाख रुपए, पुलिस तलाश में जुटी     |     मुख्यमंत्री चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर नमन किया     |     15 साल की किशोरी रेप, मंडीदीप, रायसेन में छिपकर करता रहा मजदूरी     |     21वीं राज्य स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा के लिए चुने गए जिले के खिलाड़ी     |     इन घरेलू उपायों से मोटापा करें कम     |     महेंद्रगढ़ में सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनाया घर जमींदोज, पुलिस फोर्स रही मौजूद     |     समाज के हर वर्ग के लिए काम कर रही सरकार- पंकज चौधरी     |     सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से की सौजन्य मुलाकात     |     प्रसव के लिए रुपये लेने का आरोप     |     एंटी भू-माफिया के तहत तीन के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374