Breaking
जिंदा जलकर मौत; आत्महत्या के पीछे की वजहों को खंगाल रही पुलिस भैसदेही, आठनेर, भीमपुर में हुई फसलें खराब, किसानों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मांगा मुआवजा नवरात्रि उपवास के दौरान रखें इन बातों का ध्यान दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि केन्द्र सरकार की अपील-सुप्रीम कोर्ट से सीओए को हटाए कच्चे तेल में ‎गिरावट के बाद भी पेट्रोल और डीजल की कीमत नहीं हुई कम मूनलाइटिंग को लेकर एक और उद्योगपति ने कहा- डेटा की सुरक्षा से समझौता करना पाप होगा भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने झूलन को जीत के साथ विदायी दी मंत्री बोले; प्रधानमंत्री एसएसी अभ्युदय योजना पहली बार दलित आर्थिक एजेण्डा के रूप में लागू श्राद्ध पक्ष में तीर्थ पर पिंडदान कर मांगी सुखद भविष्य की कामना

कश्मीर के एक मंदिर में आग लगी, कश्मीरी पंडितों ने त्वरित न्याय की मांग की

Whats App

कुलगाम : जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के देवसर में स्थित माता ललिता त्रिपुर सुन्दरी के मंदिर में मामूली आग लगने की खबर फैलते ही कश्मीरी पंडितों ने आगजनी का आरोप लगाते हुए यह कृत्य करने वालों को गिरफ्तार करने की मांग की।

वहीं, पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच से ऐसा लगता है कि मंदिर में जलने वाले दीयों और आरती के कारण बृहस्पतिवार-शुक्रवार की दरमियानी रात यह आग लगी।

कुलगाम पुलिस ने ट्वीट किया है, ” त्रिपुर सुन्दरी (देवसर) मंदिर में आग लगने की छोटी की घटना की पुलिस ने जांच की। शुरुआती जांच में पता चला है कि मंदिर में रोज रखे जाने वाले दीयों और आरती के कारण दुर्घटनावश आग लगी है… किसी गड़बड़ी का साक्ष्य नहीं है। लोगों से अनुरोध है कि अफवाहों पर ध्यान ना दें।”

Whats App

कुलगाम के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जी. वी. संदीप चक्रवर्ती और उपायुक्त बिलाल मोही-उद-दीन भट तत्काल घटना की जांच करने मंदिर पहुंचे।

हालांकि, कश्मीरी पंडितों का आरोप है कि पुलिस मामले में लीपापोती कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि ऐसी कड़ाके की ठंड में आग कैसे लगी और मंदिर में देवी को चढ़ाए गए धागे और पर्दे सही-सलामत है जबकि देवी का स्थान माने जाने वाला पेड़ जल गया है।

देवसर निवासी सुनीता धर ने सवाल किया, “दीयों से ऐसी आग लगना संभव नहीं है… वह भी तब जक आजकल मंदिर में कोई जाता नहीं है… ऐसे में रात एक बजे दीये से कैसे आग लग सकती है।”

स्थानीय लोगों का कहना है कि आजकल मंदिर में देर रात कोई आरती नहीं होती है और वह बंद रहता है।

हालांकि, पुलिस ने अपनी ओर से सफाई पेश करते हुए कहा है कि आधी रात को सेना ने मंदिर को साफ और सेनेटाइज किया था और संभवत: आग उसी दौरान लगी हो।

इस संबंध में सेना से कोई जवाब नहीं मिला है।

जिंदा जलकर मौत; आत्महत्या के पीछे की वजहों को खंगाल रही पुलिस     |     भैसदेही, आठनेर, भीमपुर में हुई फसलें खराब, किसानों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मांगा मुआवजा     |     नवरात्रि उपवास के दौरान रखें इन बातों का ध्यान     |     दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि     |     केन्द्र सरकार की अपील-सुप्रीम कोर्ट से सीओए को हटाए     |     कच्चे तेल में ‎गिरावट के बाद भी पेट्रोल और डीजल की कीमत नहीं हुई कम     |     मूनलाइटिंग को लेकर एक और उद्योगपति ने कहा- डेटा की सुरक्षा से समझौता करना पाप होगा     |     भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने झूलन को जीत के साथ विदायी दी     |     मंत्री बोले; प्रधानमंत्री एसएसी अभ्युदय योजना पहली बार दलित आर्थिक एजेण्डा के रूप में लागू     |     श्राद्ध पक्ष में तीर्थ पर पिंडदान कर मांगी सुखद भविष्य की कामना     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374