Breaking
करीब 30 साल बाद शनि जयंती पर बन रहा खास संयोग वट सावित्री व्रत पर वटवृक्ष की होती है परिक्रमा मुख्यमंत्री बघेल ने अबूझमाड़ के छोटेडोंगर में आम जनता से की भेंट-मुलाकात मुख्यमंत्री चौहान से मिले नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक यात्र‍ियों के ल‍िए रेलवे ने बदले सफर के न‍ियम, आपकी सहूल‍ियत के ल‍िए क‍िया यह बदलाव जानें कब है निर्जला एकादशी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर पीएम मोदी और सोनिया गांधी ने दी श्रद्धांजलि कमलनाथ ने बताई कांग्रेस की कमी, कहा-हम इस बात का इंतजार करते रह जाते हैं पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने देश में मान दिलाया POLICE TRANSFER BREAKING: 99 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें पूरी लिस्ट

रामाश्रय सिंह हत्याकांड:- मामले में कोर्ट ने भोरे थाना अध्यक्ष पर किया शोकॉज नोटिस जारी-

Whats App

प्रदीप शर्मा गोपालगंज।

 

गोपालगंज।भोरे के चर्चित कोल्ड स्टोरेज कारोबारी रामाश्रय सिंह हत्याकांड मामले में एक नया मोड़ सामने आया है, जी हां इस मामले में गोपालगंज सिविल कोर्ट ने
भोरे थाना अध्यक्ष पर शो कॉज नोटिस जारी कर दिया है, कोर्ट के आदेश की अवहेलना करने का भी भोरे थाना अध्यक्ष पर आरोप लगा है, मामला सूचक के वॉइस सैम्पल की एफएसएल जांच से जुड़ा है,बता दे की गोपालगंज सिविल कोर्ट ने पूर्व में थाना अध्यक्ष को वॉइस सैंपल की एफएसएल जांच को लेकर निर्देश दिया था
भोरे थाना अध्यक्ष के द्वारा कोर्ट के आदेश की अवहेलना की गई इसी मामले में गोपालगंज के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी राजीव पांडेय की कोर्ट ने भोरे थानाध्यक्ष से कोर्ट में स्वयं उपस्थित होकर शोकॉज का जवाब देने को कहा है. मालूम हो कि 13 जून 2019 को भोरे में स्थित कोल्ड स्टोरेज कारीबारी रामाश्रय सिंह की उनके ही निर्माणाधीन पेट्रोल पंप पर बाइक सवार आधा दर्जन अपराधियों ने दिनदहाड़े गोली मार कर हत्या कर दी थी,
मामले में मृतक के बड़े भाई हरि नारायण सिंह ने भोरे के बृज किशोर सिंह उर्फ बुची सिंह सहित नौ लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी।बाद में सूचक का एक वीडियो वायरल हुआ था. भोरे के तत्कालीन थानाध्यक्ष जंगो राम ने उसी वायरल वीडियो की एफएसएल जांच कराने के लिए कोर्ट में आवेदन दिया था. उधर आरोपी बुची सिंह की तरफ से उनके अधिवक्ता मोहनिश कुमार शाही ने भी कोर्ट में सीडी उपलब्ध कराते हुए हरि नारायण सिंह के वॉयस सैंपल की जांच की मांग की थी. जिसके बाद कोर्ट ने 27 जनवरी 2021 को उनके वॉयस सैम्पल की एफएसएल जांच पटना से कराने का आदेश दिया था. 11 फरवरी 2021 को इस संबंध में कोर्ट ने आईओ को आदेश भी जारी कर दिया था. आदेश का अनुपालन नहीं होने पर कोर्ट की तरफ से 30 जुलाई 2021 को एसपी के माध्यम से एक सप्ताह के अंदर मामले में प्रगति प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया था. इसके बाद भी न तो वॉयस सैम्पल की जांच कराई गई और न प्रगति प्रतिवेदन ही उपलब्ध कराया गया. तब कोर्ट ने थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह से शोकॉज करते हुए एक सप्ताह के अंदर स्वयं उपस्थित होकर बताने को कहा है कि क्यों न आपके खिलाफ कोर्ट के आदेश का अनुपालन नहीं करने को लेकर अवमानना की कार्रवाई की जाय।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

करीब 30 साल बाद शनि जयंती पर बन रहा खास संयोग     |     वट सावित्री व्रत पर वटवृक्ष की होती है परिक्रमा     |     मुख्यमंत्री बघेल ने अबूझमाड़ के छोटेडोंगर में आम जनता से की भेंट-मुलाकात     |     मुख्यमंत्री चौहान से मिले नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक     |     यात्र‍ियों के ल‍िए रेलवे ने बदले सफर के न‍ियम, आपकी सहूल‍ियत के ल‍िए क‍िया यह बदलाव     |     जानें कब है निर्जला एकादशी     |     पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर पीएम मोदी और सोनिया गांधी ने दी श्रद्धांजलि     |     कमलनाथ ने बताई कांग्रेस की कमी, कहा-हम इस बात का इंतजार करते रह जाते हैं     |     पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने देश में मान दिलाया     |     POLICE TRANSFER BREAKING: 99 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें पूरी लिस्ट     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374