Breaking
85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला? कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई  लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या  सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम 2 बच्चों की मां को पड़ोसी ने बनाया शिकार; 2 अन्य धाराओं में भी सजा-जुर्माना

नहीं रहे प्रसिद्ध कथक नर्तक सम्राट पंडित बिरजू महाराज, दिल का दौरा पड़ने से निधन

Whats App

प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज का निधन हो गया है। 83 साल के  कथक सम्राट बिरजू महाराज का रविवार देर रात दिल का दौरा पड़ने से दिल्ली में अपने घर पर निधन हो गया। हाल ही में पंडित बिरजू महाराज को किडनी संबंधित बीमारी हुई थी। इसके बाद वे डायलिसिस पर भी रहे थे। पंडितजी या महाराजजी के नाम से लोकप्रिय 83 साल के बिरजू महाराज भारत के सबसे प्रसिद्ध कलाकारों में से एक थे। इनका असली नाम पंडित बृजमोहन मिश्र था। बिरजू महाराज के पिता और गुरु अच्छन महाराज सहित चाोचा शंभु महाराज और लच्छू महाराज भी प्रसिद्ध कथक नर्तक थे।

बिरजू महाराज के निधन पर शोक की लहर
बिरजू महाराज के निधन की जानकारी सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने गहरा दुख जताया। मालिनी अवस्थी ने लिखा- आज भारतीय संगीत की लय थम गई। सुर मौन हो गए। भाव शून्य हो गए। कथक के सरताज पंडित बिरजू महाराज जी नहीं रहे। लखनऊ की ड्योढ़ी आज सूनी हो गई। कालिकाबिंदादीन जी की गौरवशाली परंपरा की सुगंध विश्व भर में प्रसरित करने वाले महाराज जी अनंत में विलीन हो गए। आह!अपूर्णीय क्षति है यह।

कई पुरस्कारों से सम्मानित
बिरजू महाराज का जन्म 4 फरवरी 1938 को लखनऊ में हुआ था। कथक नर्तक होने के साथ-साथ बिरजू महाराज शास्त्रीय गायक भी थे। 1986 में पद्म विभूषण से सम्मानित बिरजू महाराज को संगीत नाटक अकादमी (1964), कालिदास सम्मान (1987) और लता मंगेशकर पुरस्कार (2002) से भी सम्मानि किया जा चुका है। उन्होंने बॉलीवुड की भी कई फिल्मों में भी डांस कोरियोग्राफ किया था। इसमें उमराव जान, डेढ इश्कियां, बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में शामिल हैं। बिरजू महाराज को 2012 में ‘विश्वरूपम’ फिल्म में कोरियोग्राफी के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। वहीं, 2016 में ‘बाजीराव मस्तानी’ फिल्म के ‘मोहे रंग दो लाल’ गाने के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया था।

85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई     |     अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?     |     कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग     |     ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया     |     धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु     |     दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी     |     विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई      |     लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या      |     सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम     |     2 बच्चों की मां को पड़ोसी ने बनाया शिकार; 2 अन्य धाराओं में भी सजा-जुर्माना     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374