Breaking
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन 85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला? कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई  लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या  सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम

अधिक लागत में निर्माण कराकर रमन ने छत्‍तीसगढ़ की जनता का पैसा बर्बाद किया : मंत्री अकबर

Whats App
रायपुर। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कर्ज नहीं चुकाने पर एनआरडीए की जमीन पर बैंक द्वारा कब्जा किए जाने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के आरोप पर प्रदेश के आवास एवं पर्यावरण मंत्री मोहम्मद अकबर ने पलटवार किया है। उन्होंने इस स्थिति के लिए पूर्व सीएम और उनकी सरकार को जिम्मेदार बताया है।
अकबर ने कहा कि मांग का आकलन और सर्वे किए बिना निवेश करने व अत्यधिक लागत में निर्माण कराने के पूर्व सरकार के निर्णय के कारण ये स्थिति निर्मित हुई है। बता दें कि डा. रमन सिंह ने इस हालात को गर्त में जाता छत्तीसगढ़ कांग्रेस का माडल कहा है।
Whats App
शंकर नगर स्थित शासकीय निवास कार्यालय में मंगलवार की शाम को पत्रकारों को तथ्यों के साथ जानकारी देते हुए मंत्री अकबर ने बताया कि उस रिटेल कांप्लेक्स की निर्माण लागत 262.31 करोड़ है। इसकी वजह से उसकी लागत बढ़ गई। जब वहां निर्माण किया गया तब इस परियोजना व इसकी मांग से संबंधित किसी भी प्रकार का सर्वे या आकलन आदि नहीं किया गया था।
अकबर ने बताया कि नवा रायपुर अटल नगर के ग्राम कयाबांधा व ग्राम बरौदा के कुल भाग रकबा 2.659 हेक्टेयर भूमि में रिटेल कांप्लेक्स का निर्माण हुआ है। इसके लिए यूनियन बैंक आफ इंडिया 169 करोड़ का ऋण प्राप्त कर जून 2016 में निर्माण प्रारंभ किया गया। 31 दिसंबर 2018 को निर्माण पूरा हो चुका है। वहीं, कर्ज के विरुद्ध 20.71 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। 30 जून 2021 की स्थिति में 158.29 करोड़ का उधार बाकी है।
भवन में कुल विक्रय योग्य कारपेट एरिया लगभग 2.64 लाख वर्गफीट है। इसमें से 10 प्रतिशत, 0.27 लाख कारपेट एरिया का विक्रय किया जा चुका है। इसके अलावा छह प्रतिशत, 0.17 लाख कारपेट एरिया मासिक किराया पर आवंटित है। भवन में 2.20 लाख कारपेट एरिया का न आवंटन हुआ है न ही बिका है।
मंत्री अकबर ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन व उनकी नीतियां इस मामले में पूरी तरह से जिम्मेदार हैं। इसके बावजूद वे वर्तमान सरकार पर आरोप लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं। अपने पूरे कार्यकाल में डा. रमन ने प्रदेश की जनता की गाढ़ी मेहनत की कमाई को बर्बाद किया है। उन्होंने कहा कि मांग के अनुरूप निर्माण कार्य कराए होते तो यह नौबत नहीं आती।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन     |     85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई     |     अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?     |     कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग     |     ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया     |     धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु     |     दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी     |     विक्की कौशल ने खास अंदाज में दी ऋचा-अली को शादी की बधाई      |     लॉ कॉलेज के प्रोफेसर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या      |     सीसीटीवी में कैद हुई पूरी घटना, पुलिस चौकी के पास ही है एटीएम     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374