New Year
Breaking
गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे. मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका  राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार...

गोपालगंज में एईएस और जेई से नहीं हुई एक भी बच्चे की मौत : सिविल सर्जन।

Whats App

प्रदीप शर्मा,गोपालगंज।

 

गोपालगंज जिले में अब तक किसी भी बच्चे की मौत चमकी बुखार या (एईएस ) और जापानी इन्सेफेलाइटिस ( जेई ) से नहीं हुई है,यह बाते सिविल सर्जन ने बकायदा प्रेस रिलीज जारी कर कही है,

उन्होंने कहा कि अखबारों में प्रकाशित खबरों में तय्य की कमी है । बिना किसी जांच रिपोर्ट के नहीं कहा जा सकता है कि बच्चों को मौत जेई से हुआ है । एईएस से मिलता – जुलता लक्षण बच्चों में पाया जा रहा है । लेकिन जांच सामने नहीं आया है । सभी पीएचसी को अलर्ट मोड में रखा जाय ताकि किसी भी विषम परिस्थिति में बच्चों की जान बचाई जा सके । प्रत्येक बच्चा अनमोल है . एक – एक बच्चे का विशेष ख्याल रखना है । जिले के सभी पीएचसी में जेई / एईएस से बचाव हेतु सभी आवश्यक दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है ।

Whats App

आवश्यक दवाओं के साथ – साथ पैरासिटामोल , ओआरएस , विटामिन ए सहित ग्लूकोज भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराया गया है । उन्होने कहा कि लक्षण के आधार पर बच्चों का उपचार किया जा रहा है । इसको लेकर विभाग पूरी तरह से अलर्ट है ।

पीकू वार्ड में सभी सुविधाएं मुहैया करायी जा रही है । शिफ्टवाइज चिकित्सकों और कर्मियों की इयूटी लगायी गयी है । बेड और आवश्यक दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गयी है । ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गयी है । उच्च जोखिम वाले बच्चों को बेहतर उपचार के लिए चिकित्सकों द्वारा रेफर भी किया जा रहा है ।

ऑक्सीजन की नहीं है कोई कमी :

सिविल सर्जन डॉ . योगेंद्र महतो ने बताया कि जिले में ऑक्सीजन की कोई कमी नही है । ऑक्सीजन की कमी से किसी भी मरीज की जान नहीं जायेगी । उन्होने बताया कि अखबारों में लिखा गया है कि ऑक्सीजन लेवल गिरने से मौत हई है , जब मरीज की हालत बिगड़ती है तो ऑक्सीजन लेवल डाउन होगा ही । इसका कतई मतलब नहीं है कि ऑक्सीजन की कमी । जिले में 500 से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर भरा हुआ है । सभी बेड पर ऑक्सीजन की सप्लाई भी की जा रही है ।

अभिभावक इन बातों का रखें ध्यान :

अपने – अपने बच्चों को रात में बिना खाना खिलाएं नहीं साने दें । अगर कोई बच्चा शाम के समय में खाना खाया है और सो गया है तो उसे भी रात में जगाकर अवश्य खाना खिलाएं । बच्चों को रात में सोते समय अनिवार्य रूप से मीठा सामग्री यथा – गुड , चीनी आदि खिलाएं । • चमकी बुखार अधिकांशतः रात के 02 बजे से 04 बजे के बीच अक्रामक रूप लेता है । • अगर चमकी के साथ तेज बुखार हो तो तुरंत क्षेत्र के एएनएम , आशा , आंगनबाड़ी सेविका – सहायिका को सूचित करें । नजदीकी पीएचसी में ले जाकर समुचित उपचार कराएं।

मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया     |     जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष     |     शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका      |     राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर     |     मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव     |     आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी     |     केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक     |     दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म ‘द क्रू’ में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ     |     मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार…     |     गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे.     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374