Breaking
महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री  भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित   निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022 बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान

सोमनाथ मंदिर के पास नए सर्किट हाउस का उद्घाटन, पीएम बोले- तीर्थ स्थलों से बढ़ती है भारतीय एकता

Whats App

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सोमनाथ मंदिर के पास बने नए सर्किट हाउस का उद्घाटन किया। सर्किट हाउस के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत एक श्लोक के साथ की। मोदीने कहा, ‘भगवान सोमनाथ की आराधना में हमारे शास्त्रों में कहा कहा है- भक्तिप्रदानाय कृतावतारं, तं सोमनाथं शरणं प्रपद्ये। यानी, भगवान सोमनाथ की कृपा अवतीर्ण होती है, कृपा के भंडार खुल जाते हैं।’ पीएम ने कहा कि जिन परिस्थितियों में सोमनाथ मंदिर को तबाह किया गया, और फिर जिन परिस्थितियों में सरदार पटेल जी के प्रयासों से मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ, वो दोनों ही हमारे लिए एक बड़ा संदेश हैं।

अलग-अलग राज्यों से, देश और दुनिया के अलग-अलग कोनों से सोमनाथ मंदिर में दर्शन करने हर साल करीब करीब 1 करोड़ श्रद्धालु आते हैं। ये श्रद्धालु जब यहां से वापस जाते हैं, तो अपने साथ कई नए अनुभव, कई नए विचार और एक नई सोच लेकर जाते हैं।

Whats App

30 करोड़ की लागत से बना सर्किट हाउस

हर साल सोमनाथ मंदिर में देश-विदेश से लाखों श्रद्धालु आते हैं। मौजूदा सरकारी सुविधा मंदिर से काफी दूर है, इसीलिए यहां नए सर्किट हाउस की जरूरत महसूस की जा रही थी। नया सर्किट हाउस लगभग 30 करोड़ रुपये की लागत से बना है और ये सोमनाथ मंदिर के पास ही है

क्या है खासियत?

इस सर्किट हाउस में कई तरह की आधुनिक सुविधाएं हैं। सर्किट हाउस उच्च श्रेणी के सुइट्स, वीआईपी और डीलक्स रूम, कांफ्रेंस रूम, आडिटोरियम की सुविधाओं से लैस हैं। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि हर कमरे से समुद्र का नजारा दिखेगा।

सोमनाथ मंदिर की विशेषता

सोमनाथ मंदिर के निर्माण में लगभग पांच साल लगे थे। मंदिर का शिखर करीब 150 फीट ऊंचा है। मंदिर के शिखर पर एक कलश स्थित है जिसका वजन 10 टन है। ये मंदिर पूरे 10 किमी तक फैला हुआ है। इसमें 42 मंदिर और हैं। मुख्य मंदिर के अंदर गर्भगृह, सभामंडपम और नृत्य मंडपम है। मंदिर के दक्षिण ओर समुद्र के किनारे एक स्तंभ है जिसे बाणस्तंभ के नाम से जाना जाता है।

महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |     गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री      |     भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे     |     सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात     |     श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित       |     निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022     |     बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन     |     जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा     |     अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374