Breaking
महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री  भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित   निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022 बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान

सुरक्षाबलों ने यूपी के श्रमिक साकिर के हत्यारे आदिल को मार गिराया, एक जवान शहीद-दो घायल

Whats App

श्रीनगर : शोपियां के द्रगाड इलाके में सुरक्षाबलों ने कुछ ही घंटों में द रजिस्टेंस फ्रंट (TRF) के दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया। आज मार गिराए गए दो आतंकियों में TRF का जिला कमांडर शोपियां आदिल अहमद वानी भी शामिल था। आदिल वहीं आतंकी है जिसने टारगेट किलिंग के तहत गत दिनों पुलवामा में बाहरी श्रमिक साकिर अहमद वानी निवासी सहारनपुर उत्तर प्रदेश की हत्या की थी। दूसरे आतंकी की पहचाना होना अभी बाकी है। वहीं इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद जबकि दो अन्य घायल भी हुए हैं।

आतंकवादियों के मारे जाने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके मेंं सर्च ऑपरेशन चलाया और जब इस बात की पुष्टि हो गई कि वहां और कोई आतंकी मौजूद नहीं है तो दोनों आतंकियों के शवों व मुठभेड़ स्थल से बरामद हथियारों को लेकर सुरक्षाकर्मी वहां से वापस लौट गए।

Whats App

इसी बीच आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि फिलहाल एक आतंकी की पहचान कर ली गई है। उसका नाम आदिल अहमद वानी था और वह जुलाई 2020 से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय था। यही नहीं उसी ने लिटर, पुलवामा में एक गरीब मजदूर की हत्या की थी। आइजीपी ने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जारी अभियान के दौरान अभी तक 2 हफ्ते के भीतर सुरक्षाबलों ने अभी तक 15 आतंकियों को ढेर कर दिया है। शोपियां में इस अवधि के दौरान यह तीसरी मुठभेड़ थी। दूसरे आतंकवादी की भी पहचान की जा रही है। वहीं ऑपरेशन की समाप्ति के बाद इलाके में इंटरनेट सेवा को फिर से बहाल कर दिया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादियों के देखे जाने की सूचना के बाद एसओजी, सेना और सीआरपीएफ के जवान द्रगाड इलाके में पहुंचे। जैसे ही उन्होंने आतंकियों की तलाश शुरू की, आतंकवादियों ने उन पर गोलियां बरसाना शुरू कर दी। क्योंकि घिरे हुए आतंकी स्थानीय बताए गए थे, सुरक्षाबलों ने उन्हें हथियार डाल आत्मसमर्पण करने के लिए कहा परंतु उन्होंने इससे इंकार करते हुए गोलीबारी का सिलसिला जारी रखा। इस दौरान सेना के तीन जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को तरंतु सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया परंतु जख्मों का ताव न सहते हुए एक जवान ने शहादत पा ली। वहीं दो अन्य घायल जवानों का इलाज जारी है।

इसी बीच मुठभेड़ के पहले आधे घंटे के भीतर ही सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया। दूसरे आतंकी को एक बार फिर आत्मसमर्पण करने का मौका दिया परंतु जब उसने इस बार भी हथियार डालने से मना कर दिया तो सुरक्षाबलों ने उसे भी मार गिराया। दोनों आतंकवादियों के मारे जाने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया और जब इस बात की पुष्टि हो गई कि इलाके में और कोई आतंकी मौजूद नहीं है तो ऑपरेशन को समाप्त करने की घोषणा कर दी गई।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि दो सप्ताह के भीतर शोपियां मेंं यह तीसरी मुठभेड़ थी। 14 दिनों के भीतर सुरक्षाबलों ने कश्मीर घाटी में 15 आतंकवादियों को मार गिराया है। अभी भी अभियान जारी है।

महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |     गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री      |     भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे     |     सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात     |     श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित       |     निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022     |     बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन     |     जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा     |     अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374