Breaking
गोपालगंज। छात्र की कारस्तानी से सुर्खियों में भोरे बीपीएस कॉलेज। गोपालगंज।पटेल नगर व विशंभरपुर में युद्ध स्तर पर हो रहा कटाव निरोधी कार्य, लगाये गये 300 मजदूर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते म... नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों ... छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या 

तालिबान की आतंकियों की चुनौतियों से निपटने की कोशिश, एक महीने में 250 आइएस आतंकी गिरफ्तार

Whats App

काबुल। अफगानिस्तान के भीतर इस्लामिक स्टेट(आइएस) आतंकी समूह के कारण सुरक्षा चुनौतियां सामने आ रही है। अफगानिस्तान में तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने दावा किया है कि पिछले एक महीने में देश में 250 इस्लामिक स्टेट (आईएस) आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारी ने कहा किउनकी कुछ योजनाएँ विस्फोट करने की थीं, लेकिन योजनाएँ विफल रहीं, उनके हमलों को विफल कर दिया गया। यह घटनाक्रम आतंकी समूह की खुरासान शाखा (आईएस-के) द्वारा कुंदुज और कंधार प्रांत में दो शिया मस्जिदों में बम विस्फोटों की जिम्मेदारी लेने के बाद हुआ है।

आईएस और आतंकियों की चुनौतियों से निपटना होगा

मॉस्को-फार्मेट में अफगानिस्तान के भीतर इस्लामिक स्टेट समूह और उत्तरी क्षेत्र में अन्य आतंकवादियों द्वारा पेश की जा रही सुरक्षा चुनौतियों से निपटने पर जोर दिया गया। लावरोव ने कहा, अफगानिस्तान से मादक पदार्थों की तस्करी भी एक बड़ी चुनौती है। रूस ने अफगानिस्तान के पड़ोस में उजबेकिस्तान और ताजिकिस्तान में संयुक्त अभ्यास की एक शृंखला भी आयोजित की है।

Whats App

अफगानिस्तान में स्थिरता के लिए वार्ता जरूरी 

तालिबान के साथ संपर्क स्थापित करने के लिए रूस वर्षों तक काम कर चुका है। इसके लिए उसने भले ही 2003 में समूह को आतंकवादी संगठन नामित कर दिया हो, लेकिन इसे कभी भी सूची में शामिल नहीं किया। रूसी कानून के मुताबिक ऐसे समूहों के साथ कोई भी संपर्क दंडनीय है लेकिन विदेश मंत्रालय ने कहा कि तालिबान से उसकी वार्ता अफगानिस्तान को स्थिर करने में मदद के लिए जरूरी है

अपने किए वादों को पूरा करे तालिबान

मॉस्को-फार्मेट में तालिबान के अफगानिस्तान में सरकार बनाने के बाद के हालात पर चर्चा हुई। इसमें दस देशों के सदस्य हिस्सा ले रहे हैं जिसमें से एक भारत भी है। अफगानिस्तान में तालिबान के बाद मानवीय संकट शुरू होने को लेकर उसे दी जाने वाली मदद पर भी आने वाले दिनों में चर्चा होनी है। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा, हमारा मकसद तालिबान को उनके वादे पूरे करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

गोपालगंज। छात्र की कारस्तानी से सुर्खियों में भोरे बीपीएस कॉलेज।     |     गोपालगंज।पटेल नगर व विशंभरपुर में युद्ध स्तर पर हो रहा कटाव निरोधी कार्य, लगाये गये 300 मजदूर     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन     |     कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography     |     राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण     |     नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या     |     छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल     |     मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे     |     मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या      |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374