Breaking
पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने देश में मान दिलाया POLICE TRANSFER BREAKING: 99 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें पूरी लिस्ट देवर्षि नारद मुनि की सीख अगर कोई व्यक्ति हमें सही सलाह दे रहा है तो उस सलाह को मान लेना चाहिए RBI सरकार को देगा 30,307 करोड़ का डिविडेंड गोवा बोर्ड आज जारी करेगा 12वीं का रिजल्ट राजधानी पुलिस ने 7 DJ संचालकों पर की कार्रवाई, बारात में तेज साउंड से बजा रहे थे डीजे नगरीय निकायों के आरक्षण की गाइडलाइन जारी, सिर्फ जनरल निकाय और वार्डों में ही मिलेगा OBC आरक्षण इन्द्राणी मुखर्जी शीना बोरा मर्डर केस आज से शुरू हुआ ज्येष्ठ मास का बुढ़वा मंगल मेकाहारा अस्पताल के MRI डिपार्टमेंट में लगी आग, अफरा-तफरी का माहौल

राष्ट्रपति ने जनप्रतिनिधियों को दी सलाह, कहा- जनता की आशाओं को यथार्थ रूप देने का करें प्रयास

Whats App

पटनाः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जनप्रतिनिधियों को अपने आचरण और कार्यशैली से जनता की आशाओं को यथार्थ रूप देने का प्रयास करते रहने की नसीहत देते हुए आज कहा कि उन्हें विश्वास है कि विधायक सामाजिक अभिशापों से मुक्त, वरदानों से युक्त और सम्मानों से पूर्ण बिहार के निर्माण का संकल्प कार्यान्वित करने के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहेंगे, जिससे बिहार वर्ष 2047 तक मानव विकास के पैमानों पर एक अग्रणी राज्य बन सकेगा।

रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को बिहार विधानसभा भवन के शताब्दी वर्ष समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया और कहा कि राज्य की जनता सभी जनप्रतिनिधियों को अपना भाग्य विधाता मानती है और उनकी आशाएं एवं आकांक्षाएं आप सब पर ही टिकी होती हैं। सभी देशवासियों जिनमें बिहार के निवासी भी शामिल हैं अपने बेहतर भविष्य के लिए उनकी ललक दिखाई देती है। मुझे विश्वास है कि आप सभी विधायक अपने आचरण और कार्यशैली से जनता की आशाओं को यथार्थ रूप देने का प्रयास करते रहेंगे।

राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें प्रसन्नता है कि आज सबने सामाजिक अभिशापों से मुक्त और वरदानों से युक्त तथा सम्मानों से पूर्ण बिहार के निर्माण के लिए संकल्प अभियान का शुभारंभ किया है। उनकी कामना है कि सभी विधायक आज इस सदन में लिए गए संकल्पों को कार्यान्वित करें और बिहार को एक सुशिक्षित, संस्कारित और सुविकसित राज्य के रूप में प्रतिष्ठित करने के लिए निरंतन प्रयत्नशीन बने रहें। उन्हें विश्वास है कि विधायकों के ऐसे प्रयासों के बल पर वर्ष 2047 तक यानी देश की आजादी के शताब्दी वर्ष तक बिहार मानव विकास के पैमानों पर एक अग्रणी राज्य बन सकेगा। इस तरह राज्य की विधायिका का यह शताब्दी उत्सव सही मायनों में सार्थक सिद्ध होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने देश में मान दिलाया     |     POLICE TRANSFER BREAKING: 99 पुलिसकर्मियों के तबादले, देखें पूरी लिस्ट     |     देवर्षि नारद मुनि की सीख अगर कोई व्यक्ति हमें सही सलाह दे रहा है तो उस सलाह को मान लेना चाहिए     |     RBI सरकार को देगा 30,307 करोड़ का डिविडेंड     |     गोवा बोर्ड आज जारी करेगा 12वीं का रिजल्ट     |     राजधानी पुलिस ने 7 DJ संचालकों पर की कार्रवाई, बारात में तेज साउंड से बजा रहे थे डीजे     |     नगरीय निकायों के आरक्षण की गाइडलाइन जारी, सिर्फ जनरल निकाय और वार्डों में ही मिलेगा OBC आरक्षण     |     इन्द्राणी मुखर्जी शीना बोरा मर्डर केस     |     आज से शुरू हुआ ज्येष्ठ मास का बुढ़वा मंगल     |     मेकाहारा अस्पताल के MRI डिपार्टमेंट में लगी आग, अफरा-तफरी का माहौल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374