Breaking
भारत में टारगेंट किलिंग का काम विदेशों में बैठे आंतकियों के इशारे पर  कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार

डीलर के बेटे के अपहरण के बाद पीरो बाजार में दहशत, नक्सलियों की बढ़ती सक्रियता पुलिस के लिए बड़ी चुनौती

Whats App

लखीसराय। पीरी बाजार एवं आसपास के क्षेत्र में एक फिर नक्सलियों का खौफ कायम हो गया है। नक्सलियों ने लगभग दो साल बाद अपहरण की घटना को अंजाम दिया है। चौकरा के डीलर भागवत प्रसाद के पुत्र दीपक कुमार (26) को अगवा किया गया है। इससे पूर्व छह दिसंबर 2019 को घोघी के मदन मोहन ङ्क्षसह का अपहरण उनके घर से कर लिया गया था। उसे 21 दिसंबर की रात में नक्सलियों से मुक्त कराया जा सका था।

इधर डीलर पुत्र को अगवा किए जाने के बाद एक बार फिर लोग डरे सहमे हुए हैं। लगभग दो दर्जन हथियारबंद नक्सली दस्ता में कई महिलाएं भी शामिल थी। शनिवार की रात दीपक कुमार को उसके घर से अगवा कर लिया गया। अपहृत के पिता डीलर भागवत प्रसाद पीरी बाजार थाना स्थित बजरंगवली मंदिर में कीर्तन एवं आरती कर रहे थे। तभी उन्हें मोबाइल पर घटना की सूचना मिली। उसने तत्काल पीरी बाजार थानाध्यक्ष को इसकी सूचना दी।

सूचना पर पीरी बाजार थानाध्यक्ष एसटीएफ जवान के साथ आधा दर्जन बाइक से नक्सलियों का पीछा किया। इस दौरान दहशत कायम करने के लिए नक्सलियों की ओर से फायङ्क्षरग शुरू कर दिया। नक्सलियों ने रास्ता रोकने के लिए पहले से सड़क पर इमली का पेड़ गिरा दिया था। इस कारण रास्ता अवरुद्ध हो जाने से पुलिस ने कच्चे रास्ते से होकर उसका पीछा किया। भगतपुर लठिया मुख्य मार्ग पर चौरा पहाड़ी के नजदीक दोनों के बीच मुठभेड़ हो गया। इसमें एक नक्सली लठिया साहेब टोला के स्व. गोङ्क्षवद कोड़ा के पुत्र प्रमोद कोड़ा पुलिस के गोलियां का निशाना बन गया। हालांकि नक्सली डीलर पुत्र को ले जाने में सफल रहा है।

Whats App

आटो से नक्सली आया था गांव तक

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नक्सली आटो से पहाड़ी की तरफ से गांव तक आया था। रामपुर के एक आटो चालक ने उसे भगतपुर मोड़ तक लाकर छोड़ा। उसके बाद वहां से पैदल नक्सली अपहृत के घर तक आए। बताया जा रहा है भागवत प्रसाद का घर भी उसी ने बताया था।

मृत नक्सली पर पूर्व में कई नक्सली वारदात में थे शामिल

पुलिस मुठभेड़ में मारा गया नक्सली प्रमोद कोड़ा हार्डकोर नेता बालेश्वर कोड़ा एवं अर्जुन कोड़ा के दस्ते का सक्रिय सदस्य बताया जा रहा है। पुलिस से मिल रही सूचना के मुताबिक मारे गए नक्सली के खिलाफ आठ से नौ मामले दर्ज होने की पुष्टि एसपी सुशील कुमार ने की है। इसके अलावा उसके विरुद्ध दर्ज अन्य मामले का पता लगाया जा रहा है।

भारत में टारगेंट किलिंग का काम विदेशों में बैठे आंतकियों के इशारे पर      |     कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की     |     आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर     |     मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह     |     इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन     |     Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग     |     अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला     |     सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे     |     अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल     |     एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374