Breaking
ग्वालियर में VIDEO देख रोईं तो उसने मुंह दबाया; लोगों ने मनचले को बांध दिया हिसार के ढंडूर गांव की घटना; अलसुबह 3 बजे बारिश होने से हुआ हादसा मुम्बई के कुर्ला में इमारत ढहने से 8 लोगों की मौत हेलमेट पर कैमरा लगाकर उतरेंगे ओली पोप कार्सन पिकेट फुटबॉल टीम में शामिल होने वाली पहली दिव्यांग खिलाड़ी बनी तीन युवक पेट्रोलियम पदार्थ से भरी बोतल फेंककर बाइक से भागे पेट्रोल-डीजल और ATF के एक्सपोर्ट पर मोदी सरकार ने बढ़ाया टैक्स युवक को अगवाकर हत्या, घर में पर्ची फेंककर बताया कहां पड़ी है लाश सोवादार बोला-मानसिक शोषण व इलाज करने की धमकी दी; अधिकारी ने आरोपों को नकारा चीन बोला- यूक्रेन संकट के बहाने नया शीत युद्ध छेड़ने का प्रयास कर रहा है नाटो

DGP दिलबाग सिंह बोले- अब कश्मीर में स्थिति काफी बेहतर, हथियार छोड़ कलम उठाएं आतंकी

Whats App

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (DGP) दिलबाग सिंह ने रविवार को यहां कहा कि कश्मीर में अब हालात कहीं बेहतर हैं और लोग शांति एवं विकास की दिशा में बढ़ना चाहते हैं। केंद्रशासित प्रदेश में हाल में हिंसा की घटनाओं में वृद्धि देखने को मिली थी। डीजीपी सिंह ने स्थानीय आतंकवादियों से हथियार छोड़ने की अपील की और युवाओं से किताब-कलम उठाकर जम्मू-कश्मीर की समृद्धि और प्रगति की दिशा में काम करने का आह्वान किया। राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर ‘शांति एवं एकता के लिए दौड़’ के आयोजन से इतर यहां संवाददाताओं से बातचीत में सिंह ने यह कहा। इस दौड़ में करीब 700 बच्चे, युवा और वयस्क शामिल हुए।

सिंह ने कहा कि हालात अब कहीं बेहतर हैं। अभी जो माहौल है, उसमें लोग शांति चाहते हैं और हिंसा के खिलाफ हैं। हिंसा की कुछ घटनाएं हुई हैं, लेकिन बड़ी संख्या में लोगों ने उन घटनाओं की निंदा की है। अब हालात बेहतर हैं। आपने यहां भागीदारी देखी, जो संकेत है कि लोग शांति और विकास की ओर बढ़ना चाहते हैं और हिंसा की निंदा करते हैं।” अक्तूबर में कश्मीर घाटी में आतंकवादियों ने 11 आम नागरिकों की हत्या कर दी थी। डीजीपी ने स्थानीय आतंकवादियों से हथियार छोड़ने की अपील करते हुए कहा कि न केवल वे अपनी जान से हाथ धोएंगे बल्कि वे अपने माता-पिता, समाज और लोगों के भी खिलाफ काम कर रहे हैं और हिंसा से हर कोई प्रभावित है।

सिंह ने, हाल में जम्मू-कश्मीर दौरे पर आए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा की गई अपील दोहराई जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर घाटी के युवाओं को अपने हाथों में बंदूकों और पत्थरों के बजाए किताबें लेना चाहिए, अपना भविष्य बनाना चाहिए और केंद्र शासित प्रदेश की समृद्धि और प्रगति की दिशा में काम करना चाहिए। DGP सिंह ने कहा कि मैं भी समान संदेश देना चाहता हूं कि आपकी और समाज की बेहतरी हथियार उठाने से नहीं बल्कि किताब, कलम उठाने और अपने माता-पिता तथा समाज के साथ मिलकर काम करने से होगी।

ग्वालियर में VIDEO देख रोईं तो उसने मुंह दबाया; लोगों ने मनचले को बांध दिया     |     हिसार के ढंडूर गांव की घटना; अलसुबह 3 बजे बारिश होने से हुआ हादसा     |     मुम्बई के कुर्ला में इमारत ढहने से 8 लोगों की मौत     |     हेलमेट पर कैमरा लगाकर उतरेंगे ओली पोप     |     कार्सन पिकेट फुटबॉल टीम में शामिल होने वाली पहली दिव्यांग खिलाड़ी बनी     |     तीन युवक पेट्रोलियम पदार्थ से भरी बोतल फेंककर बाइक से भागे     |     पेट्रोल-डीजल और ATF के एक्सपोर्ट पर मोदी सरकार ने बढ़ाया टैक्स     |     युवक को अगवाकर हत्या, घर में पर्ची फेंककर बताया कहां पड़ी है लाश     |     सोवादार बोला-मानसिक शोषण व इलाज करने की धमकी दी; अधिकारी ने आरोपों को नकारा     |     चीन बोला- यूक्रेन संकट के बहाने नया शीत युद्ध छेड़ने का प्रयास कर रहा है नाटो     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374