Breaking
क्रूड ऑयल 110 डॉलर के पार, जान लीजिए आपके शहर में आज क्या है पेट्रोल-डीजल का हाल ? स्ट्रेस के इन लक्षणों को पहचानकर तनाव दूर करने के लिए अपनाएं ये नेचुरल तरीके करीब 30 साल बाद शनि जयंती पर बन रहा खास संयोग वट सावित्री व्रत पर वटवृक्ष की होती है परिक्रमा मुख्यमंत्री बघेल ने अबूझमाड़ के छोटेडोंगर में आम जनता से की भेंट-मुलाकात मुख्यमंत्री चौहान से मिले नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक यात्र‍ियों के ल‍िए रेलवे ने बदले सफर के न‍ियम, आपकी सहूल‍ियत के ल‍िए क‍िया यह बदलाव जानें कब है निर्जला एकादशी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर पीएम मोदी और सोनिया गांधी ने दी श्रद्धांजलि कमलनाथ ने बताई कांग्रेस की कमी, कहा-हम इस बात का इंतजार करते रह जाते हैं

महानगरों की चकाचौंध छोड़ अपनी मिट्टी में ‘डॉ. अचला’ लिखेगी नई इबारत…

Whats App

बिहारशरीफ: कहते हैं कि जोखिम बगैर कामयाबी नहीं मिलती। शहर में कॉस्मेटिक सर्जरी की शुरुआत करने जा रही युवा डॉक्टर अचला वर्मा पर यह बात सौ फीसदी फिट बैठती है। शुरू में जब इन्होंने कॉस्मेटिक हॉस्पिटल खोलने का निर्णय लिया तो सभी ने कहा कि पटना,दिल्ली व मुम्बई बेहतर होगा। लेकिन जब जवाब दिया कि फिर इस शहर के लिए मेरा कॉन्ट्रिब्यूशन क्या होगा। यह सुनकर सभी डॉ. अचला के साथ खड़े हो गए। इस मुद्दे पर मेरी भी बात डॉ. अचला वर्मा से हुई। काफी क्रिएटिव दिखी। कुछ नया करने का एक्साइटमेंट चेहरे पर साफ झलक रहा था। आरएमसी लोनी से मेडिकल की डिग्री हासिल की। अपोलो हॉस्पिटल कोलकाता में चार साल काम किया। न्यू दिल्ली व जर्मनी से एस्थेटिक मेडिसिन में फेलोशिप किया। इंस्टिट्यूट ऑफ लेजर एंड एस्थेटिक मेडिसीन , जर्मनी की सदस्य भी है। बातचीत में
डॉ. अचला वर्मा ने कहा कि भैया उम्र कम दिखे, यह ख्वाहिश अमूमन सभी की होती है। इसके लिए लोग जतन भी करते हैं। ऐसी ही एक कोशिश है कॉस्मेटिक सर्जरी। झुर्रियों से लेकर लकीरों और पेट से लेकर नाक तक सभी में करेक्शन का काम इस सर्जरी से किया जाता है। साथ ही सबसे ज्यादा परेशानी बाल झड़ने की होती है। हेयर ट्रांसप्लांटेशन का क्रेज भी बढ़ा है। इसके लिए महानगर व बड़े शहरों के अलावा कही विकल्प नहीं है। काफी सोच समझकर मैंने फैसला लिया। शुरू में मेरे इस निर्णय पर घरवालों ने आश्चर्य व्यक्त किया लेकिन बाद में सभी मेरी नई सोच के सपोर्ट में आ गए। डॉ. अचला ने कहा कि पिता डॉ. अश्विनी वर्मा शहर के जाने-माने ईएनटी स्पेशलिस्ट है। पति डॉ. अभिनव भी डॉक्टर है। ससुर डॉ. अरविंद कुमार सिन्हा जिले के जाने-माने नेत्र रोग विशेषज्ञ है। सास डॉ. सुनीति सिन्हा भी प्रख्यात स्त्री रोग विशेषज्ञ है। ऐसे में खुद को साबित करना मेरे लिए बहुत बड़ी चुनौती है। शहर में लोगों की अर्निंग कैपेसिटी भी देखनी है। उसी हिसाब से सर्जरी का रेट तय होगा। हॉस्पिटल एरिया में एक कैंटीन की भी व्यवस्था होगी। साथ में एक कॉउंसेललिंग सेंटर होगा। सर्जरी के लिए अत्याधुनिक मशीनें मंगाई गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

क्रूड ऑयल 110 डॉलर के पार, जान लीजिए आपके शहर में आज क्या है पेट्रोल-डीजल का हाल ?     |     स्ट्रेस के इन लक्षणों को पहचानकर तनाव दूर करने के लिए अपनाएं ये नेचुरल तरीके     |     करीब 30 साल बाद शनि जयंती पर बन रहा खास संयोग     |     वट सावित्री व्रत पर वटवृक्ष की होती है परिक्रमा     |     मुख्यमंत्री बघेल ने अबूझमाड़ के छोटेडोंगर में आम जनता से की भेंट-मुलाकात     |     मुख्यमंत्री चौहान से मिले नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक     |     यात्र‍ियों के ल‍िए रेलवे ने बदले सफर के न‍ियम, आपकी सहूल‍ियत के ल‍िए क‍िया यह बदलाव     |     जानें कब है निर्जला एकादशी     |     पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर पीएम मोदी और सोनिया गांधी ने दी श्रद्धांजलि     |     कमलनाथ ने बताई कांग्रेस की कमी, कहा-हम इस बात का इंतजार करते रह जाते हैं     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374