Breaking
कंप्यूटर शोरूम में लगी भीषण आग पूर्व विधायक अजय राय गैंगेस्टर केस में गवाही देने गाजीपुर पहुंचे भोपाल की साइबर क्राइम टीम फर्जी मेल की जानकारी जुटाने तमिलनाडु रवाना SCO की बैठक में भारत के अलावा पाकिस्‍तान चीन और रूस भी ले रहे हिस्‍सा SBI, PNB समेत सभी सरकारी बैंक के लिए अच्छी खबर, धोखधड़ी वाले पैसों को लेकर RBI ने दी बड़ी जानकारी तपती गर्मी से जल्द मिलेगी राहत, IMD ने जारी किया बारिश का अलर्ट; जानें अपने यहां का हाल महंगा होगा हवाई सफर, 5 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ हवाई ईंधन की कीमतें पहुंची रिकॉर्ड लेवल पर पुलिस ने घेराबंदी कर 480 किलो गांजे से भरा ट्रक किया जब्त राष्ट्रपति कोविन्द की जमैका यात्रा की हुई शुरुआत कांग्रेस नव संकल्प की तैयारी में जुटी

अखिलेश यादव के बयान पर असदुद्दीन ओवैसी बोले, भारतीय मुसलमानों का मुहम्मद अली जिन्ना से कोई लेना-देना नहीं

Whats App

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा हरदोई में एक जनसभा में मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर दिए गए एक बयान पर उत्तर प्रदेश प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। सभी रजनीतिक दलों ने अखिलेश को घेरना शुरू कर दिया है। जहां एक तरफ भारतीय जनता पार्टी उनके इस बयान की तीखी आलोचना कर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी प्रहार किया है। वहीं आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

एआइएमआइएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने अखिलेश यादव के बयान पर कहा कि उनको समझना चाहिए कि भारतीय मुसलमानों का मुहम्मद अली जिन्ना से कोई लेना-देना नहीं है। हमारे बुजुर्गों ने दो राष्ट्र सिद्धांत को खारिज कर दिया और भारत को अपना देश चुना। अगर अखिलेश यादव सोचते हैं कि इस तरह के बयान देकर वह लोगों के एक वर्ग को खुश कर सकते हैं, तो मुझे लगता है कि वह गलत हैं और उन्हें अपने सलाहकारों को बदलना चाहिए। उन्हें भी खुद को शिक्षित करना चाहिए और कुछ इतिहास पढ़ना चाहिए।

Whats App

बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समाजवादी विजय रथ लेकर रविवार को हरदोई पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पर तीखा प्रहार किया। जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और जिन्ना (मुहम्मद अली) ने एक ही संस्थान में पढ़ाई की। वे बैरिस्टर बन गए और भारत की आजादी के लिए लड़े। लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने एक विचारधारा (आरएसएस) पर प्रतिबंध लगाया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

कंप्यूटर शोरूम में लगी भीषण आग     |     पूर्व विधायक अजय राय गैंगेस्टर केस में गवाही देने गाजीपुर पहुंचे     |     भोपाल की साइबर क्राइम टीम फर्जी मेल की जानकारी जुटाने तमिलनाडु रवाना     |     SCO की बैठक में भारत के अलावा पाकिस्‍तान चीन और रूस भी ले रहे हिस्‍सा     |     SBI, PNB समेत सभी सरकारी बैंक के लिए अच्छी खबर, धोखधड़ी वाले पैसों को लेकर RBI ने दी बड़ी जानकारी     |     तपती गर्मी से जल्द मिलेगी राहत, IMD ने जारी किया बारिश का अलर्ट; जानें अपने यहां का हाल     |     महंगा होगा हवाई सफर, 5 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ हवाई ईंधन की कीमतें पहुंची रिकॉर्ड लेवल पर     |     पुलिस ने घेराबंदी कर 480 किलो गांजे से भरा ट्रक किया जब्त     |     राष्ट्रपति कोविन्द की जमैका यात्रा की हुई शुरुआत     |     कांग्रेस नव संकल्प की तैयारी में जुटी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374