Breaking
विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने आतंकवादियों का पुतला जलाया रोहतक मंडल में 3491 मामले लंबित, जिनकी 50.98 करोड़ राशि हेल्थ, स्किन और हेयर का रखे ख्याल पॉलिटेक्निक कॉलेज में परीक्षा देने गए थे, चोर ने एक्टिवा का बूट स्पेस खोलकर चुराए मोर माजरा गांव के युवक का स्टंट, तेज स्पीड में नहर में कूदने का VIDEO वायरल पीवी सिंधू क्वार्टरफाइनल में पहुंची रोहित के संक्रमित होने पर इंग्लैंड बुलाए गए मयंक अग्रवाल सहकारी संस्था का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए मांगे थे 60 हजार रुपए सेगांव में 25 वर्षीय युवती ने लगाई फांसी, मामले की जांच में जुटी पुलिस भारत में अगले आने वाली 5 सालों में इलेक्ट्रिक वाहन की मांग काफी तेज

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने कटनी में की मानवाधिकार हनन मामलों की जनसुनवाई

Whats App

17 मामले मौके पर निराकृत, 15 मामलों में अग्रिम कार्यवाही के निर्देश

कटनी  मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने सोमवार, 28 मार्च 2022 को जिला पंचायत कार्यालय, कटनी के सभाकक्ष में मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग में कटनी जिले के पहले से लंबित एवं मौके पर प्राप्त नये प्रकरणों की जनसुनवाई की।

आयोग के माननीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन एवं माननीय सदस्य श्री मनोहर ममतानी ने कटनी जिले के सभी पूर्व लम्बित एवं मौके पर प्राप्त नये मामलों की सीधी सुनवाई की। इस अवसर पर कटनी जिले के पुलिस अधीक्षक श्री सुनील जैन, मप्र मानव अधिकार आयोग के पुलिस अधीक्षक एवं कटनी जिले के प्रस्तुतकर्ता अधिकारी श्री सीताराम सस्त्या, कटनी जिले के सीईओ जिला पंचायत श्री जगदीशचंद्र गोमे, एडीएम श्री रोमानुस टोप्पो, एडिशनल एसपी श्री मनोज केडिया, डिप्टी कलेक्टर सुश्री संस्कृति शर्मा, एसडीएम (कटनी) सुश्री प्रिया चंद्रावत, तहसीलदार (नगर) कटनी श्री संदीप श्रीवास्तव सहित मानव अधिकार हनन के लंबित मामलों से जुड़े विभागों के जिलाधिकारीगण एवं संबंधित मामलों के आवेदकगण भी मौजूद थे।

Whats App

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के माननीय अध्यक्ष एवं सदस्य द्वारा यहां कटनी जिले के पहले से लंबित 17 एवं मौके पर प्राप्त 15, कुल 32 प्रकरणों की सीधी जनसुनवाई की गई। आयोग द्वारा इन सभी प्रकरणों में से 10 पूर्व लंबित एवं 07 नये प्राप्त, कुल 17 मामलों का अंतिम निराकरण कर दिया गया। आयोग द्वारा पहले से लंबित एवं जनसुनवाई में निराकरण से शेष रहे 07 प्रकरणों में आयोग को प्राप्त हुए प्रतिवेदन में वांछित तथ्यों की कमी को देखते हुए दी गई रिपोर्ट से  असहमत होकर नये तथ्यों की पूछताछ कर (क्वेरी लगाकर) मौके पर मौजूद संबंधित विभागाधिकारियों को इन मामलों में अग्रिम कार्यवाही कर पुनः प्रतिवेदन देने को कहा गया। इसी प्रकार नये प्राप्त प्रकरणों में से निराकरण से शेष रहे 08 प्रकरणों में आयोग द्वारा संबंधित विभाग के जिलाधिकारियों को तथ्यात्मक प्रतिवेदन देने को कहा गया, ताकि इन प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण हो सके।

विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने आतंकवादियों का पुतला जलाया     |     रोहतक मंडल में 3491 मामले लंबित, जिनकी 50.98 करोड़ राशि     |     हेल्थ, स्किन और हेयर का रखे ख्याल     |     पॉलिटेक्निक कॉलेज में परीक्षा देने गए थे, चोर ने एक्टिवा का बूट स्पेस खोलकर चुराए     |     मोर माजरा गांव के युवक का स्टंट, तेज स्पीड में नहर में कूदने का VIDEO वायरल     |     पीवी सिंधू क्वार्टरफाइनल में पहुंची     |     रोहित के संक्रमित होने पर इंग्लैंड बुलाए गए मयंक अग्रवाल     |     सहकारी संस्था का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए मांगे थे 60 हजार रुपए     |     सेगांव में 25 वर्षीय युवती ने लगाई फांसी, मामले की जांच में जुटी पुलिस     |     भारत में अगले आने वाली 5 सालों में इलेक्ट्रिक वाहन की मांग काफी तेज     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374