New Year
Breaking
जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी  इलेक्शन मोड में सरकार अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल

गोपालगंज। पिस्तौल और जिंदा कारतूस के साथ भोरे से कुख्यात गिरफ्तार।

Whats App
  • गोपालगंज। डेढ़ दर्जन से ऊपर संगीन मामलों का आरोपी रह चुके जिले के कुख्यात अपराधी सत्येंद्र यादव उर्फ पहलवान को भोरे पुलिस ने हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया है,बताया जाता है कि भोरे थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह को गुप्त सूचना मिली कि सुमेरी छापर गांव में कुख्यात तथा वांक्षित अपराधी शिवसागर चौधरी  का पुत्र सतेंद्र यादव उर्फ पहलवान अपने घर सुमेरी छापर में आया हुआ है। गुप्त सूचना मिलते ही भोरे थानाध्यक्ष
    सुभाष कुमार सिंह दलबल के साथ थाना क्षेत्र के
    सुमेरी छापर पहुँचे तभी सत्येंद्र यादव उर्फ पहलवान  पुलिस को देखकर भागने लगा। पुलिस द्वारा खदेड़ कर उसे धर दबोचा गया,इस दौरान पुलिस ने सत्येंद्र यादव उर्फ पहलवान की जब तलासी ली गई तो उसके पास से एक देशी लोडेड पिस्तौल तथा 2 जिंदा गोली बरामद किया गया,

    डेढ़ दर्जन से ऊपर संगीन मामलों का आरोपी रह चुका है सतेंद्र पहलवान,

    ऐसा नहीं है कि पुलिस ने कुख्यात को पहली बार गिरफ्तार किया हो इसके पहले भी सत्येंद्र पहलवान कई मामलों में जेल जा चुका है, अपराध जगत की अगर बात करें तो वर्ष 1999 में बोर्ड की परीक्षा देने के बाद उसने 2001 में इंटरमीडिएट एग्जाम को पास किया, उसके बाद सत्येंद्र पहलवान ने अपराध जगत में ऐसे कदम रखा के पीछे मुड़कर उसने कभी नहीं देखा, सूत्र यह भी बताते हैं कि 2001 में इंटरमीडिएट एग्जाम के बाद उसने गवर्नमेंट जॉब के लिए भारतीय रेल में नौकरी के लिए आवेदन किया था, लेकिन वर्ष 2001 जनवरी माह में ही
    जमीनी विवाद के एक मामले को लेकर हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट का आरोपी बन गया, और इसी बीच पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जेल में ही रहने के बाद सत्येंद्र पहलवान के घर रेलवे का कॉल लैटर भी आया था, मंडल कारा गोपालगंज में बंद सत्येंद्र यादव का कैरियर तबाह हो गया, उसके बाद उसने अपराध जगत से ऐसा नाता जोड़ा कि वह फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा, और एक के बाद एक संगीन मामले सतेंदर यादव पर दर्ज होते गये, और वह कई बार जेल की सलाखों के अंदर भी गया,आपको बता दें कि सत्येन्द्र यादव उर्फ पहलवान फिरौती के लिए अपहरण, डकैती, लूट, रंगदारी जैसे दर्जनों कांडों में आरोप पत्रित तथा भोरे थाना कांड सं० 89/21 में वांक्षित अपराधकर्मी है,पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक सत्येंद्र यादव बिहार में शराबबंदी के बाद भी
    शराब की तस्करी कर रहा था,बरहाल पुलिस ने कुख्यात सत्येंद्र यादव उर्फ पहलवान को गिरफ्तार कर लिया है,
    थाना अध्यक्ष सुभाष सिंह ने यह दावा किया है कि कुख्यात से पूछताछ के बाद शराब तस्करी से जुड़े कई लोगों के नाम सामने आ सकते है,बरहाल कुख्यात से पूछताछ अभी जारी है।

    रंजीत शाही।

जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी     |      इलेक्शन मोड में सरकार     |     अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त     |     गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो     |     रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया     |     तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश     |     इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा     |     मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित     |     चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी     |     रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374