Breaking
इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं? अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता

पीएम मोदी से मिली हेमा मालिनी, काशी-विश्वनाथ की तर्ज पर मथुरा के 3 मंदिरों के विकास की मांग की

Whats App

मथुरा । बॉलीवुड की अभिनेत्री और ड्रीम गर्ल के नाम ख्यात मथुरा से सांसद और भाजपानेत्री हेमा मालिनी अब पूरी तरह से सियासत में रंग गई हैं। हेमा मालिनी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मथुरा के तीन मंदिरों का विकास काशी विश्वनाथ मंदिर की तरह ही करने और उनका बेहतर प्रबंधन सुनिश्चित करने का आग्रह किया। हेमा मालिनी ने पत्रकारों से कहा, ‘प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान मैंने इस संबंध में एक पत्र भी उन्हें सौंपा है कि वह मथुरा जनपद में स्थित गोवर्धन के दान घाटी मंदिर, बरसाना के श्रीजी मंदिर एवं वृन्दावन के बांकेबिहारी मंदिर का भी वैसा ही विकास कराएं जिस प्रकार से वाराणसी के काशी-विश्वनाथ मंदिर में कराया गया है।’
हेमा मालिनी ने वाराणसी कॉरिडोर में की गई व्यवस्थाओं की सराहना करते हुए कहा कि मैंने प्रधानमंत्री से मंदिरों में इसी तरह की व्यवस्था करने का अनुरोध किया, क्योंकि मौजूदा व्यवस्था में बेहतर व्यवस्था करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि तीनों मंदिरों के विकास में केंद्र सरकार पूरा सहयोग देगी। बता दें कि पहले काशी विश्वनाथ मंदिर तक पहुंचने के लिए तंग गलियों से होकर गुजरना पड़ता था। पर अब पीएम मोदी के प्रयास से काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के तहत काशी विश्वनाथ मंदिर को आधुनिक रूप दिया गया है। साथ ही विकास भी किया गया है। काशी विश्वनाथ धाम प्रोजेक्ट के तहत मंदिर चौक समेत बाहर 24 भवन बनाए गए हैं। यात्री सुविधा केंद्र, मुमुक्षु भवन, सिटी म्यूजियम, वाराणसी गैलरी, आध्यात्मिक पुस्तक केंद्र, वैदिक भवन, कॉफी हाउस, अन्न क्षेत्र आदि का काम अपने अंतिम रूप में है। जलासेन घाट से मंदिर चौक के बीच में बनाई गई गंगा व्यू गैलरी अपने भव्यतम रूप में दिखने लगी है। गंगा व्यू गैलरी से खड़े होकर आप बाबा विश्वनाथ के स्वर्ण शिखर और मां गंगा के दर्शन कर सकते हैं।
तब मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ. सुनील वर्मा ने बताया था कि इमारतें सभी खड़ी हो गई हैं। अब केवल फिनिशिंग का काम बाकी है। 75 फीसदी के करीब काम हो गया है। हमारी कोशिश है कि समय से इसको पूरा कर लिया जाए। मंदिर के चारों ओर एक परिक्रमा पथ भी बनाया गया है, जिसमे मणिमाला के दूसरे मंदिरों के दर्शन और परिक्रमा का लाभ भी भक्तों को मिल पाएगा।

इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस     |     बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी     |     हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं?     |     अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस     |     गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस     |     बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन     |     पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी     |     तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम     |     आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत     |     देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374