Breaking
सोनीपत में 900 एकड़ में लगेगी फैक्ट्री, PM मोदी 28 को वर्चुअली करेंगे शिलान्यास जन्माष्टमी पर कान्हा की भक्ति में डूबा रहेगा संसार जन्माष्टमी की तारीख को लेकर न हों भ्रमित मोहाली में अस्पताल का उद्घाटन करेंगे; AAP सरकार में पहला दौरा, कांग्रेस के वक्त सुरक्षा चूक हुई रफ्तार में कार रेलिंग से टकराई, एयरबैग तक खुल गए पर नहीं बचा पाए जिंगदी, सैनिक की मौत हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग

अमेरिका की चीन को सख्त चेतावनी, ताइवान पर हमला हुआ तो सहयोगियों संग करेंगे कार्रवाई

Whats App

वाशिंगटन। ताइवान को लेकर अमेरिका ने चीन को सख्त चेतावनी दी है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने बुधवार को कहा कि अगर चीन ताइवान पर यथास्थिति को बदलने के लिए बल का उपयोग करता है तो संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगी आवश्यक कार्रवाई करेंगे। ब्लिंकन की टिप्पणी बाइडन और चीनी नेता शी जिनपिंग के बीच एक नियोजित आभासी बैठक से पहले आई है।

न्यूयार्क टाइम्स द्वारा आयोजित एक मंच पर ब्लिंकन से पूछा गया था कि क्या चीन द्वारा हमले की स्थिति में संयुक्त राज्य अमेरिका ताइवान की रक्षा के लिए कदम उठाएगा। इसपर उन्होंने अमेरिकी बयानों को दोहराते हुए कहा कि वाशिंगटन की भूमिका यह सुनिश्चित करना है कि ताइवान के पास खुद की रक्षा करने के साधन हों, जैसा कि अमेरिकी कानून के तहत आवश्यक है।

Whats App

ब्लिंकन ने कहा कि ताइवान में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए हम अकेले नहीं हैं। क्षेत्र और उसके बाहर कई देश हैं, जो ताइवान पर किसी भी तरह की एकतरफा कार्रवाई को बरदास्त नहीं करेंगे और शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगे। हालांकि, ब्लिंकन ने यह नहीं बताया कि वह किस तरह की कार्रवाई का जिक्र कर रहे है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने पिछले महीने यह कहकर सबको चौका दिया था कि अगर चीन ने ताइवान पर हमला किया तो संयुक्त राज्य अमेरिका उसके बचाव में आएगा। हालांकि, यह अभी स्पष्ट नहीं किया कि संयुक्त राज्य अमेरिका हमला होने की स्थिति में कैसी प्रतिक्रिया देगा, लेकिन व्हाइट हाउस ने बयान के तुरंत बाद कहा था कि बाइडन अपनी नीति में बदलाव का संकेत नहीं दे रहे थे। यही नहीं कुछ विश्लेषकों ने उनकी टिप्पणियों को गलती बताते हुए खारिज कर दिया था।

दूसरी तरफ, अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल के ताइवान दौरे के जवाब में चीनी सेना ने द्वीपीय राष्ट्र के पास सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। चीन के रक्षा मंत्रालय ने बिना विस्तृत जानकारी दिए मंगलवार को एलान किया कि ताइवान जलडमरूमध्य क्षेत्र में अभ्यास राष्ट्रीय संप्रभुता की रक्षा के लिए आवश्यक कदम है। अभ्यास का समय, उसका सटीक स्थान व उसमें बल की कौन सी टुकड़ियां हिस्सा ले रही हैं आदि के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

सोनीपत में 900 एकड़ में लगेगी फैक्ट्री, PM मोदी 28 को वर्चुअली करेंगे शिलान्यास     |     जन्माष्टमी पर कान्हा की भक्ति में डूबा रहेगा संसार     |     जन्माष्टमी की तारीख को लेकर न हों भ्रमित     |     मोहाली में अस्पताल का उद्घाटन करेंगे; AAP सरकार में पहला दौरा, कांग्रेस के वक्त सुरक्षा चूक हुई     |     रफ्तार में कार रेलिंग से टकराई, एयरबैग तक खुल गए पर नहीं बचा पाए जिंगदी, सैनिक की मौत     |     हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे     |     दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल     |     झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट     |     परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण     |     लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374