Breaking
बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली - पेड़ हमारे हरे-भरे भैया भालू नें कई लोगों को किया घायल घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल नीतीश आठवीं बार बने सीएम अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग

बिहार में टीबी की पूर्ण रोकथाम के लिए बीमारी होने से पूर्व होंगे बचाव के उपायः स्वास्थ्य मंत्री

Whats App

पटनाः बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि राज्य में टीबी (यक्ष्मा) की पूर्ण रोकथाम के लिए बीमारी होने से पूर्व बचाव के उपाय की व्यवस्था की जाएगी।

मंगल पांडेय ने रविवार को कहा कि केंद्र की प्रोग्रैमेटिक मैनेजमेंट ऑफ टीबी प्रीवेंटिव ट्रीटमेंट (पीएमटीपीटी) योजना से राज्य में टीबी की पूर्ण रोकथाम में मदद मिलेगी। प्रथम चरण में 11 जिले दरभंगा, मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, सारण, पूर्णिया, सिवान, गोपालगंज, नालंदा, समस्तीपुर, भागलपुर और वैशाली शामिल हैं। वैशाली और दरभंगा में कार्य प्रारंभ भी कर दिया गया है। इस योजना के तहत वर्ष 2025 तक टीबी उन्मूलन की महत्वाकांक्षी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए राज्य में अब टीबी की रोकथाम के लिए न सिर्फ मुफ्त उपचार होगा बल्कि लोगों को जागरूक कर इससे पूर्व ही बचाव के उपाय भी सुझाए जाएंगे।

मंत्री ने बताया कि प्रथम चरण में वित्तीय वर्ष 2021-22 में 11 जिलों में यह योजना लागू होगी। राज्य में टीबी रोगियों के परिवारों की भी पहचान कर जांच की प्रक्रिया तेज की जाएगी ताकि टीबी की पूर्ण समाप्ति के लिए लड़ाई लड़ी जा सके। इसके तहत राज्य के सभी जिलों में टीबी पीड़ित रोगियों के संपर्क में रहने वाले परिवार के सभी सदस्यों को टीबी रोग से मुक्त रखने के लिए टीबी प्रीवेंटिव ट्रीटमेंट प्रारंभ किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वैशाली जिले के बिदुपुर प्रखंड के मंझौली पंचायत एवं दरभंगा जिले में कार्यक्रम क्रियान्वयन के लिए लर्निंग प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न हो गया है। सभी जिलों में चिकित्सकों, चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्यकर्मियों एवं गैरसरकारी स्वयंसेवी संगठनों जैसे वर्ल्ड हेल्थ पार्टनर, डाक्टर्स फार यू, क्लिंटन हेल्थ एक्सेस इनिटिएटिव के जिला एवं प्रखंड स्तरीय मानव संसाधन को भी प्रशिक्षित किया जाएगा।

Whats App

पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की कोशिश है कि प्रदेश में टीबी संक्रमित लोगों का शीघ्र उपचार हो। नई योजना के मुताबिक उच्च जोखिम युक्त समुदाय में विशेष रूप से टीबी संभावित रोगों की रोकथाम में सहायक साबित होगी। टीबी प्रीवेंशन योजना से टीवी संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोगों को संक्रमण से बचाने का काम करेगा। जो लोग प्राइवेट चिकित्सकों से इलाज करवाते हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ मिल सके इसके लिए विभिन्न माध्यमों से जागरुकता फैलाई जा रही है।

बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली – पेड़ हमारे हरे-भरे भैया     |     भालू नें कई लोगों को किया घायल     |     घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ     |     मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल     |     नीतीश आठवीं बार बने सीएम     |     अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ     |     सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे     |     महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश     |     Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374