Breaking
आयुष्मान खुराना ने जारी किया फिल्म से अपना नया लुक भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने आज हैदराबाद पहुंचेंगे पीएम मोदी सीजेएम ने बाल संस्थान का किया औचक निरीक्षण, बच्चों की उचित देखभाल करने के निर्देश चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात, खेमी शक्ति मंदिर रहेगा प्रवास ग्वालियर में CM ने किया रोड शो, शिवराज बोले-विकास के लिए बहन सुमन को वोट दें ​​​​​​​कुछ देर की तलाश के बाद पुलिस ने आरोपी बाइकर्स को दबोचा, बैग में थे मोबाइल और डॉक्यूमेंट युवक आए दिन करता था पीछा, रास्ते में रोककर देता था धमकी चातुर्मास में करेंगे ये काम, भगवान विष्णु और शिव दोनों का आशीर्वाद होगा प्राप्त नगर पालिका के रेस्क्यू दल ने नहीं सुनी शिकायत, युवाओं ने संभाला मोर्चा कैसा रहेगा आपका आज का दिन (04 जुलाई 2022)

पटना। अफसरशाही पर ठीकरा फोड़, समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने की इस्तीफे की पेशकश।

Whats App

बिहार के सियासी गलियारे से बड़ी खबर सामने आ रही है. नीतीश सरकार में समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने इस्तीफे की पेशकश कर दी है. मदन सहनी ने कहा है कि उनके विभाग में अधिकारियों का राज चल रहा है औऱ अब उनके पास कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा. मदन सहनी ने अपने विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद पर गंभीर आऱोप लगाये हैं

ट्रांसफर-पोस्टिंग में विवाद के बाद घमासान
दरअसल समाज कल्याण विभाग में ट्रांसफर पोस्टिंग को लेकर मंत्री औऱ प्रधान सचिव के बीच विवाद हुआ था. इसके कारण सीडीपीओ समेत विभाग के कई दूसरे अधिकारियों का ट्रांसफर जून महीने में नहीं हो पाया था. मंत्री औऱ प्रधान सचिव में घमासान लगातार बढ़ता जा रहा था. जून में ट्रांसफर कर पाने में सफल नहीं हो पाये मंत्री ने आज इस्तीफे की पेशकश कर दी.

प्रधान सचिव पर तीखा हमला
मंत्री मदन सहनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद ने पूरे विभाग को चौपट कर दिया है. विभाग में कोई काम नहीं हो रहा है. ट्रांसफर पोस्टिंग में मंत्री की नहीं सुनी जा रही है. प्रधान सचिव चार सालों से विभाग में जमे हैं. प्रधान सचिव बतायें कि उन्होंने क्या किया. विभाग के कई अहम पदों पर सालों से एक ही अधिकारी जमे हुए हैं. उनके कारण सही तरीके से काम नहीं हो पा रहा है.

Whats App

मदन सहनी ने कहा कि प्रधान सचिव मंत्री की बात ही नहीं सुनते. प्रधान सचिव के रवैये को लेकर उन्होंने उपर भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं की गयी. पूरा समाज कल्याण विभाग चौपट हो गया है. इसलिए उनके पास इस्तीफा देने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है.

ट्रांसफर में मंत्री की नहीं चली
जानकारों की मानें तो सारा मामला ट्रांसफर पोस्टिंग से जुड़ा है. जून के महीने में विभागों को अपने स्तर पर ट्रांसफर करने की छूट होती है. समाज कल्याण विभाग के सूत्रों के मुताबिक मंत्री मदन सहनी ने नियमों को ताक पर रख कर ट्रांसफर करने की कवायद शुरू की थी. लेकिन प्रधान सचिव ने नियम विरूद्ध ट्रांसफर करने से इंकार कर दिया था. मंत्री औऱ सचिव की लड़ाई में विभाग में ट्रांसफर ही नहीं हो पाया.

सीडीपीओ के ट्रांसफर पर हुआ विवाद
समाज कल्याण विभाग के सूत्रों के मुताबिक मंत्री बड़े पैमाने पर सीडीपीओ का ट्रांसफर करना चाहते थे. सरकार ने नियम बना रखा है कि तीन साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद ही अधिकारियों का तबादला किया जाये. लेकिन मंत्री कई ऐसे अधिकारियों का ट्रांसफर करना चाहते थे जिनका तीन साल का कार्यकाल पूरा नहीं हुआ था. वे खराब परफार्मेंस वाले सीडीपीओ को भी अहम जगह देने की कवायद में लगे थे. प्रधान सचिव ने मंत्री की सिफारिशों को मानने से इंकार कर दिया था. इसके बाद मंत्री ने इस्तीफे की पेशकश की है.

आयुष्मान खुराना ने जारी किया फिल्म से अपना नया लुक     |     भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने आज हैदराबाद पहुंचेंगे पीएम मोदी     |     सीजेएम ने बाल संस्थान का किया औचक निरीक्षण, बच्चों की उचित देखभाल करने के निर्देश     |     चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात, खेमी शक्ति मंदिर रहेगा प्रवास     |     ग्वालियर में CM ने किया रोड शो, शिवराज बोले-विकास के लिए बहन सुमन को वोट दें     |     ​​​​​​​कुछ देर की तलाश के बाद पुलिस ने आरोपी बाइकर्स को दबोचा, बैग में थे मोबाइल और डॉक्यूमेंट     |     युवक आए दिन करता था पीछा, रास्ते में रोककर देता था धमकी     |     चातुर्मास में करेंगे ये काम, भगवान विष्णु और शिव दोनों का आशीर्वाद होगा प्राप्त     |     नगर पालिका के रेस्क्यू दल ने नहीं सुनी शिकायत, युवाओं ने संभाला मोर्चा     |     कैसा रहेगा आपका आज का दिन (04 जुलाई 2022)     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374