Breaking
गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी। 3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा 27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई ... कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग

4 हजार करोड़ के महल में रहते हैं सिंधिया, डाइनिंग टेबल पर चलती है चांदी की ट्रेन! देखिए तस्वीरें

Whats App

भाजपा में अपनी पैठ बना चुके केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर राजघराने से ताल्लुक रखते हैं। वे ग्वालियर के सिंधिया वंश के अंतिम महाराजा जीवाजीराव सिंधिया के पोते हैं। भाजपा के कद्दावर नेताओं के साथ साथ ज्योतिरादित्य को सिंधिया वंश के वारिस माना जाता है। वे ज्यादातर दिल्ली में रहते हैं लेकिन ग्वालियर में उनका जय विलास भव्य महल है जो अपनी सुंदरता के लिए देश विदेश में जाना जाता है।

लगभग 4 हजार करोड़ है महल की कीमत…
इस महल का निर्माण जीवाजीराव सिंधिया ने 1874 में करवाया था। तब इसकी लागत एक करोड़ रुपए के लगभग थी, लेकिन आज इस महल की कीमत 4,000 करोड़ रुपए के आसपास बताई जा रही है। इस महल में 4 सौ से भी ज्यादा कमरे हैं।

महल में म्यूजियम
30 से ज्यादा कमरों को म्यूजियम बना दिया गया है। इनमें शानदार कलाकृतियां और ओरंगजेब और शाहजहां की तलवारें रखी हुई है। इसके साथ ही यहां पर आपको महाराजों के जीवन परिचय, उनका दरबार हाल, राजशाही चेयर-कुर्सिया समेत विदेशों में निर्मित कई प्राचीन वस्तुएं देखने को मिलेंगी।

Whats App

दीवारों में जड़ा है सोना चांदी
जानकारों की मानें तो महल की दीवारों में हीरे मोती और सोना जड़ा हुआ है। महल में करीब 560 किलो सोने का इंटीरियर है। महल में 5 स्टार होटल भी है।

दो बड़े बड़े झूमर है आकर्षक का केंद्र…
जयविलास महल के संग्रहालय में दो बड़े बड़े झूमर लगे हुए हैं। ये झूमर यूरोपियन आर्किटेक्ट माइकल फिलोसे से लगवाए गए थे। एक विशाल झूमर है जिसका वजन 3500 किलो है। कहते हैं कि इन झूमरों को टांगने से पहले 10 हाथियों को छत पर चढ़ा कर पहले छत की मजबूती जांची गई थी इसके बाद ही झूमर टांगे गए थे।

चांदी की ट्रेन
जयविलास महल की सबसे ज्यादा प्रसिद्ध चीज यहां के डाइनिंग हॉल में टेबल पर चलने वाली चांदी की ट्रेन है। इस ट्रेन की मदद से खाना परोसा जाता है।

इस शाही महल का निर्माण सिंधिया राजवंश के निवास के तौर पर और वेल्स के राजकुमार, किंग एडवर्ड VI के स्वागत के लिए किया गया था। लेकिन 1964  में इसे आम जनता के लिए खोल दिया गया था। 150 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से देकर टिकट लेकर भारतीय नागरिक महल में घूम सकते हैं वहीं विदेशी नागरिकों के लिए टिकट की कीमत 8 सौ रुपए है।

3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए     |     कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा     |     27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई योजना     |     कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत     |     CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल     |     खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग     |     पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक     |     बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई     |     झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग     |     गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी।     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374