Breaking
गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी। 3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा 27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई ... कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग

चारा घोटाला मामलाः लालू सहित सभी अभियुक्तों की सशरीर उपस्थिति का आदेश

Whats App

पटनाः बहुचर्चित चारा घोटाला मामले की सुनवाई कर रही बिहार में पटना व्यवहार न्यायालय स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत के न्यायाधीश प्रजेश कुमार ने घोटाले से जुड़े एक प्रमुख मामले में आरोपित राजद अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव सहित सभी अभियुक्तों की सशरीर उपस्थिति का आदेश पारित किया।

इससे पूर्व इस अदालत ने सभी अभियुक्तों को मामले में उचित पैरवी करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद मंगलवार को आरके राणा, जगदीश शर्मा, ध्रुव भगत, बेक जूलियस, त्रिपुरारी मोहन प्रसाद, फ्रेडरिक करकेटा सहित 16 आरोपित न्यायालय में सशरीर उपस्थित हुए जबकि लालू प्रसाद, नागेंद्र पाठक और प्रकाश कुमार ने अपने वकील के माध्यम से न्यायालय में उपस्थिति दर्ज करवाई। इसके बाद अदालत ने मामले में 23 नवंबर 2021 की अगली तिथि निश्चित करते हुए सभी आरोपितों को सशरीर उपस्थित रहने का आदेश दिया है। इसके साथ ही अदालत ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वह मामले के अन्य अभियुक्तों के संबंध में अगली तिथि को अपनी रिपोर्ट पेश करे। मामला बांका उप कोषागार से लगभग 46 लाख रुपये की फर्जी विपत्रों के आधार पर पशुपालन विभाग में एक षड्यंत्र के तहत की गई अवैध निकासी का है।

सीबीआई ने इस मामले की प्राथमिकी वर्ष 1996 में आरसी 63/ए/1996 के रूप में दर्ज की थी। इस मामले में सीबीआई ने 44 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था लेकिन सुनवाई के दौरान कई आरोपितों की मृत्यु हो चुकी है। इसके बाद 28 अभियुक्तों के खिलाफ सुनवाई लंबित है। ऐसा समझा जा रहा है कि इन 28 आरोपितों में से भी कई लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जिनके संबंध में रिपोर्ट आने पर पता चलेगा। मामला सीबीआई की ओर से गवाही के लिए लंबित चला आ रहा है।

3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए     |     कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा     |     27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई योजना     |     कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत     |     CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल     |     खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग     |     पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक     |     बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई     |     झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग     |     गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी।     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374