Breaking
इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं? अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता

जीतू पटवारी बोले- 7 सौ किसानों के दम तोड़ने के बाद PM मोदी को सद्बुद्धि आई

Whats App

इंदौर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकाश पर्व के मौके पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान करके हर किसी को हैरान कर दिया। उन्‍होंने अपने संबोधन में आंदोलन खत्‍म कर किसानों को घर लौटने की अपील की है। पीएम मोदी के इस फैसले को लेकर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि 7 सौ किसानों के दम तोड़ने, 1 साल के संघर्ष सारी राजनीतिक, आम जन से लेकर सारे किसान परिवारों के विरोध के बाद नरेंद्र मोदी जी को सद्बुद्धि आई और आज उन्होंने कृषि कानून वापस लेने का फैसला किया है। उन्हें मैं धन्यवाद देता हूं।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान किसानों को कभी उग्रवादी, कभी आतंकवादी कहा गया। मीडिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा सरकार का महिमामडंन किया। सच तो यह है कि मोदी सरकार ने जो भी निर्णय लिए वो जिद्द में आकर लिए हैं। चाहे वह नोटबंदी हो, बढ़ती हुई महंगाई का हो या आर्थिक व्यवस्था को लेकर किए निर्णय हो सरकार हर स्तर पर फेल हुई है। लेकिन मीडिया ने हमेशा उनका गुणगान किया है। लेकिन सच्चाई की जीत होती है। जैसे कि राहुल गांधी ने हमेशा कहा कि चाहे जो हो जाए एक दिन सच हमेशा जीतता है। सरकार ने माना कि यह काले कानून है। हमने अलोकतांत्रिक तरीके से लागू किए थे इसलिए ये कानून वापस ले लिए।

इमिग्रेशन कंपनियों के दफ्तरों पर शुरू की छापामारी, चेक किए लाइसेंस     |     बिजली मंत्री ने बिजली और गबन संबंधी समस्याओं पर लिया एक्शन; 11 शिकायतें सुनी     |     हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत नहीं दी; वकील से पूछा- क्या वह भारत आएगा या नहीं?     |     अनिज विज को शिकायत देने के बाद दर्ज हुआ मामला, जांच में जुटी पुलिस     |     गांव जंडली की घटना; शराब के नशे में था सूरज, जांच में जुटी पुलिस     |     बोले- पीएम मोदी को 8 हजार करोड़ का जहाज, अग्निवीर को बर्फीले सियाचीन में सिर्फ 21 हजार वेतन     |     पत्थर की फैक्ट्री में दो महिलाएं काम कर रही थी, दूसरी फैक्ट्री की दीवार गिरी     |     तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम     |     आर्थिक मोर्चे पर बेहाल पाकिस्तान में अब भारी आयात शुल्क लगाने से दवाओं की किल्लत     |     देवेंद्र फडणवीस का डिमोशन या अनुशासन का संदेश? महाराष्ट्र के फैसले से भ्रम में भाजपा कार्यकर्ता     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374