Breaking
कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार यूएनजीए अध्यक्ष ने फिलिस्तीनियों के लिए भरोसा जताने के महत्व पर जोर दिया

पुलिस महानिदेशकों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, नक्सलवाद से निपटने की चुनौतियों पर चर्चा

Whats App

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज लखनऊ में पुलिस महानिदेशकों के 56वें सम्मेलन को संबोधित करेंगे। राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के पुलिस महानिदेशकों के अलावा केंद्रीय सुरक्षा बलों के शीर्ष अधिकारी भी इसमें शामिल होंगे। दिल्ली के बाहर हो रहे इन सम्मेलनों में प्रधानमंत्री और गृह मंत्री नियमित रूप से शामिल होते रहे हैं।

दो दिवसीय सम्मेलन हाइब्रिड प्रारूप में आयोजित किया जाएगा। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के डीजीपी और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और केंद्रीय पुलिस संगठनों के प्रमुख लखनऊ में कार्यक्रम स्थल पर शारीरिक रूप से भाग लेंगे, जबकि शेष आमंत्रित व्यक्ति आईबी/एसआईबी मुख्यालय में 37 विभिन्न स्थानों से वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से भाग लेंगे।

रविवार तक चलने वाले इस सम्मेलन के दौरान साइबर क्राइम, डाटा गवर्नेंस, आतंकरोधी अभियान और नक्सलवाद से निपटने की चुनौतियों पर चर्चा की जाएगी। आमतौर पर यह सम्मेलन दिल्ली में होता था, लेकिन मोदी के पीएम बनने के बाद से यह दिल्ली से बाहर आयोजित किया जा रहा है।

Whats App

इससे पहले शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने डीजीपी और आइजीपी के 56वें ​​सम्मेलन का उद्घाटन किया। राज्य पुलिस बलों और केंद्रीय एजेंसियों के बीच बेहतर समन्वय की आवश्यकता पर बल देते हुए शाह ने माओवादी हिंसा और साइबर अपराध जैसे सुरक्षा से संबंधित मुद्दों पर केंद्रित कार्रवाई पर जोर दिया।इसके साथ ही उन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान सुरक्षा बलों द्वारा निभाई गई भूमिका और उनके बलिदान की भी सराहना की।

यह सम्मेलन 2014 में गुवाहाटी में आयोजित किया गया था। 2015 में कच्छ का रण, 2016 में राष्ट्रीय पुलिस अकादमी, हैदराबाद, 2017 में बीएसएफ अकादमी, टेकनपुर, 2018 में केवड़ियाऔर 2019 में इसे आइआइएसइआर, पुणे में आयोजित किया गया था।

कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की     |     आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर     |     मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह     |     इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन     |     Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग     |     अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला     |     सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे     |     अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल     |     एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार     |     यूएनजीए अध्यक्ष ने फिलिस्तीनियों के लिए भरोसा जताने के महत्व पर जोर दिया     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374