Breaking
कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार यूएनजीए अध्यक्ष ने फिलिस्तीनियों के लिए भरोसा जताने के महत्व पर जोर दिया

बिहार में नीतीश सरकार के 16 साल पूरे होने पर तेजस्‍वी ने पूछे 21 सवाल, कहा- JDU मना रहा विफलता का जश्‍न

Whats App

पटना।  राजद विधायक और नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने बिहार में नीतीश सरकार के 16 साल को पूरी तरह विफल करार दिया है। उन्‍होंने इस खास मौके पर जदयू की ओर से आयोजित कार्यक्रमों को ‘विफलता का जश्‍न’ नाम दिया है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से 21 सवाल पूछते हुए कहा है कि जनहित में उन्‍हें इन सवालों का जवाब जरूर ही देना चाहिए। उन्‍होंने अपने सवालों की शुरुआत गरीबी और राेजगार के मसले से की है। तेजस्‍वी ने कहा कि बिहार की आबादी में 60 फीसद आबादी युवाओं की है और ये युवा लगातार अपनी योग्‍यता और शिक्षा से कम स्‍तर की नौकरी के लिए राज्‍य से बाहर जाने के लिए विवश हैं।

बिहार के हर दूसरे परिवार का कमाऊ पूत राज्‍य के बाहर

तेजस्‍वी ने कहा कि बिहार के हर दूसरे परिवार का कमाऊ पूत राज्‍य से बाहर जाने के लिए विवश है। नीतीश सरकार को अपनी हर नाकामी के लिए पिछली सरकारों पर ठीकरा फोड़ने की बजाय अपने कार्यकाल का हिसाब देना चाहिए। गत 10 वर्षों में बिहार में पलायन दर में जबर्दस्‍त वृद्ध‍ि हुई है। नीति आयोग की रिपोर्ट में बिहार के पिछड़ने पर भी उन्‍होंने सरकार को घेरा है।

Whats App

दो लाख करोड़ रुपए की वित्‍तीय गड़बड़ी का लगाया है आरोप

तेजस्‍वी यादव ने कहा कि केंद्र सरकार के सभी मानक संस्थाओं जैसे एनसीआरबी, एनआरएचएम, एनएचएम, एनएसएसओ एवं नीति आयोग के लिहाज से बिहार की हालत सही नहीं है। शिक्षा, स्वास्थ्य, नौकरी और कानून व्यवस्था की स्थिति सबसे बदतर है। सीएजी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए दो लाख करोड़ रुपये का हिसाब-किताब गायब होने का संगीन आरोप भी उन्‍होंने लगाया है। उन्‍होंने कहा कि सात-आठ साल से सरकार उपयोगिता प्रमाणपत्र नहीं दे पा रही है।

तेजस्‍वी ने सीएम पर कुर्सी बचाए रखने के लिए बार-बार गठबंधन बदलने का आरोप लगाया है। परीक्षा के पेपर लीक होने, विकास के मानकों पर पिछड़ने, दलितों पर कर्म खर्च करने, 30 हजार करोड़ रुपए के 76 घोटाले, नल-जल योजना में भ्रष्‍टाचार, थानों और प्रखंड कार्यालयों में भ्रष्‍टाचार, शराबबंदी के फेल होने, कल-कारखानों के बंद होने जैसे मसलों पर भी सरकार को घेरा है।

कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पीएफआई प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिका खारिज की     |     आदिवासियों के विरोध का फायदा BJP को, कांग्रेस की सावित्री का नाम सुनकर इमोशनल हो रहे वोटर     |     मल्लिकार्जुन खड़गे ने जिस तरह PM के लिए अपशब्द बोले, कांग्रेस नेतृत्व के जमात सोच- राजनाथ सिंह     |     इस तरह करें चुकंदर का इस्तेमाल,चमका सकता है स्किन     |     Hyundai Ioniq 5 (Electric Car) का इंतजार हुआ खत्म, 20 दिसंबर से शुरू होगी बुकिंग     |     अमित शाह का AAP पर जोरदार हमला     |     सिविल अस्पताल में चल रहा इलाज, CCS यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट; सीने पर घाव, कीड़े पड़े थे     |     अखिलेश को छोटे नेताजी के नाम से जाना जाए : शिवपाल     |     एम्स जैसे साइबर हमले से बचाव के लिए एसजीपीजीआईएमएस तैयार     |     यूएनजीए अध्यक्ष ने फिलिस्तीनियों के लिए भरोसा जताने के महत्व पर जोर दिया     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374