Breaking
मनी एक्सचेंज मार्केट में हुआ जोरदार धमाका, विस्फोटों से दहला अफगानिस्तान सौंपा ज्ञापन, अकाली दल में इकबाल झूंदा की सिफारिशों को लागू करने की मांग अंबिकापुर में तेज रफ्तार ट्रक ने  स्कूटी सवार युवक को मारी टक्कर, मौके पर ही दर्दनाक मौत झारखंड में हाथी के हमले में डब्ल्यूआईआई का सदस्य घायल डायबिटीज ने मुश्किल कर दिया है जीना? तो इन मसालों से करे कंट्रोल भारत बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा iPhone मेकर... ब्राइडल लुक में चार चांद लगा देंगे ये ट्रेंडी लिपस्टिक कलर्स लालू प्रसाद यादव  का आज होगा सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट दान देने में भी Gautam Adani अव्वल मंत्री चौबे के बंगले के बाहर खड़ीं होकर बोलीं- हक की नौकरी भीख में दे दो

‘भारत के लिए सबसे बड़ा खतरा चीन’ वाली CDS रावत की टिप्पणी का ड्रैगन ने किया विरोध, उकसाने का आरोप लगाया

Whats App

बीजिंग। चीन ने गुरुवार को चीफ आफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत की उस टिप्पणी पर विरोध जताया, जिसमें कहा गया था कि चीन, भारत के लिए सबसे बड़ा सुरक्षा खतरा है। चीन ने उलटा भारत पर ‘भू-राजनीतिक टकराव’ के लिए उकसाने का आरोप लगा दिया। चीन के रक्षा मंत्रालय ने सीडीएस रावत की टिप्पणी का विरोध किया और भारतीय सैन्य प्रमुख की टिप्पणियों को ‘उसकानेवाला’ कहा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान को रिपोर्ट किया, जिन्होंने कहा कि चीन और भारत एक-दूसरे के लिए कोई खतरा नहीं हैं। उन्होंने कहा कि CDS द्वारा दिया गया बयान सही नहीं है। चीन के खतरे को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करना दोनों देशों के नेताओं द्वारा निर्धारित रणनीतिक मार्गदर्शन का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि भू-राजनीतिक टकराव को भड़काना गैर-जिम्मेदार और खतरनाक दोनों है।

उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत संयुक्त रूप से चीन के साथ क्षेत्रीय शांति की रक्षा कर सकता है। प्रवक्ता ने कहा, ‘पड़ोसी देशों के रूप में, हमें उम्मीद है कि भारत पक्ष सीमावर्ती क्षेत्रों में क्षेत्रीय शांति और शांति की रक्षा के लिए चीन के साथ मिलकर काम कर सकता है और साथ में द्विपक्षीय संबंधों के सकारात्मक विकास को बनाए रख सकता है।’

Whats App

यह रूस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की 18वीं बैठक से एक दिन पहले आया है। बैठक, जिसकी अध्यक्षता विदेश मंत्री (ईएएम) एस जयशंकर करेंगे। डिजिटली कान्फ्रेंस आयोजित की जाएगी।

पिछले हफ्ते, भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ शेष मुद्दों का शीघ्र समाधान खोजने की आवश्यकता पर सहमति व्यक्त की थी, जबकि पूरी तरह से द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकाल का पालन किया ताकि शांति और शांति बहाल हो सके।

मनी एक्सचेंज मार्केट में हुआ जोरदार धमाका, विस्फोटों से दहला अफगानिस्तान     |     सौंपा ज्ञापन, अकाली दल में इकबाल झूंदा की सिफारिशों को लागू करने की मांग     |     अंबिकापुर में तेज रफ्तार ट्रक ने  स्कूटी सवार युवक को मारी टक्कर, मौके पर ही दर्दनाक मौत     |     झारखंड में हाथी के हमले में डब्ल्यूआईआई का सदस्य घायल     |     डायबिटीज ने मुश्किल कर दिया है जीना? तो इन मसालों से करे कंट्रोल     |     भारत बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा iPhone मेकर…     |     ब्राइडल लुक में चार चांद लगा देंगे ये ट्रेंडी लिपस्टिक कलर्स     |     लालू प्रसाद यादव  का आज होगा सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट     |     दान देने में भी Gautam Adani अव्वल     |     मंत्री चौबे के बंगले के बाहर खड़ीं होकर बोलीं- हक की नौकरी भीख में दे दो     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374