Breaking
गोपालगंज।टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों की पहचान के लिए जिले में चलेगा महा-सर्वे, मोबाइल एप में दर्ज ह... गोपालगंज।अब थावे मंदिर में माता के दर्शन के साथ ही लीजिए “ जीवन रक्षा का डोज”, बनाया गया टीकाकरण कें... गोपालगंज। मुखिया के पहली ही पारी में अनु मिश्रा ने रिकॉर्ड मतों से की जीत दर्ज,तो पूर्व के दिग्गजों ... गोपालगंज।बैकुंठपुर का युवक भोजपुरी फिल्मों में मचा रहा धमाल। गोपालगंज। निर्जला पर्व के बीच 201 मतदान केंद्रों पर शाम पांच बजे तक पड़े.. मतदान केंद्र पर वोट डालने जा रहे मुखिया प्रत्याशी सहित उनके परिवार को बीच रास्ते बेरहमी से पीटा। माँ ने जिस बेटे के लिए रखा था जिउतिया व्रत उसे अपराधियों ने उतरा मौत के घाट.(सुनामी एक्सप्रेस) पटना। रामाश्रय सिंह हत्याकांड के एक आरोपित की गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक। गोपालगंज ।पंचायत चुनाव को लेकर भोरे के 6 लोगों पर भेजा गया सीसीए लगाने का प्रस्ताव। गोपालगंज।सामाजिक कार्यों जुड़े से आम नागरिकों को भी मिलेगा प्रशस्ति पत्र।

पटना। आरसीपी सिंह से मिलने गए अति पिछड़े तबके के जदयू नेता को धक्के देकर बाहर निकाला.चंद्रवंशी बोले आरसीपी भगवान समझ रहे हैं,आइए बिहार देंगे जवाब।

पटना। बिहार के नीतीश सरकार भले ही लाख दावा कर ले और जदयू के नेता पार्टी में सब कुछ ठीक चल रहा है का जवाब देकर बातों को दबा दें, लेकिन जो वाक्य सामने आ रहा है वह हैरान ही नहीं करता, बल्कि गंभीर सवाल भी खड़ा करता है, बिहार की राजनीति में प्रमोद चंद्रवंशी का नाम ऐसा नहीं है कि कोई नहीं जानता, लेकिन जो हाल प्रमोद चंद्रवंशी ने बयां किया है,उसे सुनने और देखने के बाद जदयू के अंदर खाने में जो चल रहा है वह ठीक नहीं है,नीतीश कुमार ने जिस दौर में समता पार्टी बनायी थी, उसी दौर में प्रमोद चंद्रवंशी उनके साथ राजनीति करते थे. प्रमोद चंद्रवंशी आज दिल्ली में आरसीपी सिंह से मिलने पहुंच गये. दो घंटे तक इंतजार करते रहे उन्हें आरसीपी सिंह के कैंपस तक में घुसने नहीं दिया गया. बाद में जब वे आरसीपी सिंह के फ्लैट तक जाने वाली लिफ्ट में सवार होने लगे तो स्टाफ ने धक्के दे कर बाहर निकाल दिया. व्यथित प्रमोद चंद्रवंशी आरसीपी सिंह के घर के सामने फट पड़े-आरसीपी बाबू भगवान नहीं हैं, हम नीतीश जी के साथ 27 साल से राजनीति किये हैं. आरसीपी सिंह को बिहार आने दीजिये सबक सिखा देंगे.

प्रमोद चंद्रवंशी के साथ ये सलूक
पहले जान लीजिये कि प्रमोद चंद्रवंशी हैं कौन. प्रमोद चंद्रवंशी अति पिछड़े तबके से आने वाले जेडीयू नेता हैं. 1994 में जब नीतीश कुमार ने लालू यादव से अलग हो कर राजनीति शुरू की थी तो प्रमोद चंद्रवंशी उनके साथ थे. नीतीश कुमार ने उन्हें अपनी पार्टी से ओबरा विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार भी बनाया था. जेडीयू के कई पदों पर भी वे रहे. हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव में वे निर्दलीय प्रत्याशी बनकर चुनाव लडे थे. लेकिन चुनाव के बाद फिर से जेडीयू के कार्यक्रमों में शामिल होने लगे थे. 

आरसीपी सिंह के मंत्री बनने पर दिल्ली गये
प्रमोद चंद्रवंशी ने जब जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह को मंत्री बनते देखा तो उन्हें बधाई देने के लिए दिल्ली पहुंच गये. वे खास तौर पर आरसीपी सिंह से मिलने दिल्ली गये थे. शनिवार से ही प्रमोद चंद्रवंशी आरसीपी सिंह से मिलने की कोशिश कर रहे थे. शनिवार को भी वे दो घंटे तक आरसीपी सिंह के घर के सामने खड़े रहे, उन्हें अंदर एंट्री नहीं मिली. आरसीपी सिंह सांसदों के लिए बने अपार्टमेंट में रहते हैं. प्रमोद चंद्रवंशी को उस अपार्टमेंट में ही घुसने नहीं दिया जा रहा था.

धक्के देकर भगाया
रविवार की सुबह भी प्रमोद चंद्रवंशी आरसीपी सिंह से मिलने उनके अपार्टमेंट पहुंचे. काफी देर तक कैंपस में खड़े हो कर इंतजार किया. आरसीपी सिंह सांसदों के लिए बनाये गये स्वर्ण जयंती सदन अपार्टमेंट में रहते हैं. चौथे तल्ले पर उनका फ्लैट है. प्रमोद चंद्रवंशी को जब उपर से बुलावा नहीं आया तो वे लिफ्ट से आरसीपी सिंह के फ्लैट तक जाने के लिए बढ़े. लेकिन लिफ्ट के बाहर मौजूद आरसीपी सिंह के स्टाफ ने उन्हें धक्के देकर बाहर निकाल दिया.जब स्टाफ ने धक्के देकर हटाया तो प्रमोद चंद्रवंशी फट पड़े. “हम समता पार्टी के संस्थापक हैं, उस समय से नीतीश कुमार के साथ हैं जब वे समता पार्टी बनाये थे. जब नीतीश बाबू रेल मंत्री थे तो ये पीएस थे. आरसीपी सिंह हमको चाय पिलाते थे औऱ पकौड़ी खिलाते थे. मैं उस जमाने का हूं. मैं जेडीयू के नेशनल एक्जक्यूटिव का मेंबर रहा हूं, तीन बार चुनाव लड़ा हूं. अब लग रहा है कि जैसे आरसीपी सिंह ईश्वर हो गये हैं, उ अपने आप को ईश्वर से भी उपर समझ रहे हैं. ईश्वर से मिलने में भी ऐसे नहीं होगा.”

प्रमोद चंद्रवंशी ने बताया कि आज वे दो घंटे से बैठे हुए हैं. इससे पहले वे कल यानि शनिवार की सुबह में भी आये थे. आरसीपी सिंह का स्टाफ भी नोटिस नहीं ले रहा है. वे पटना से सिर्फ आरसीपी सिंह से मिलने आये हैं, सिर्फ बधाई देने आये हैं. उनका कोई काम नहीं है कोई पैरवी नहीं करवाना है. इस तरह से बेईज्जती की जा रही है. प्रमोद चंद्रवंशी ने कहा कि नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री हैं लेकिन वे जब भी नीतीश कुमार से टाइम मांगते हैं तो मिल जाता है. आरसीपी सिंह तो ऐसे लग रहा है जैसे भगवान हो गये हैं.प्रमोद चंद्रवंशी ने कहा कि आरसीपी सिंह को वे पटना में जवाब देंगे.मिडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अति पिछड़ा होने के कारण उनका अपमान किया गया है. वे इस अपमान का जवाब जरूर देंगे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

गोपालगंज।टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों की पहचान के लिए जिले में चलेगा महा-सर्वे, मोबाइल एप में दर्ज होगी जानकारी।     |     गोपालगंज।अब थावे मंदिर में माता के दर्शन के साथ ही लीजिए “ जीवन रक्षा का डोज”, बनाया गया टीकाकरण केंद्र     |     गोपालगंज। मुखिया के पहली ही पारी में अनु मिश्रा ने रिकॉर्ड मतों से की जीत दर्ज,तो पूर्व के दिग्गजों का भी जाने हाल।     |     गोपालगंज।बैकुंठपुर का युवक भोजपुरी फिल्मों में मचा रहा धमाल।     |     गोपालगंज। निर्जला पर्व के बीच 201 मतदान केंद्रों पर शाम पांच बजे तक पड़े..     |     मतदान केंद्र पर वोट डालने जा रहे मुखिया प्रत्याशी सहित उनके परिवार को बीच रास्ते बेरहमी से पीटा।     |     माँ ने जिस बेटे के लिए रखा था जिउतिया व्रत उसे अपराधियों ने उतरा मौत के घाट.(सुनामी एक्सप्रेस)     |     पटना। रामाश्रय सिंह हत्याकांड के एक आरोपित की गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक।     |     गोपालगंज ।पंचायत चुनाव को लेकर भोरे के 6 लोगों पर भेजा गया सीसीए लगाने का प्रस्ताव।     |     गोपालगंज।सामाजिक कार्यों जुड़े से आम नागरिकों को भी मिलेगा प्रशस्ति पत्र।     |    

विज्ञापन के लिए हमसे संपर्क करें - +919431277374