Breaking
किसानों को 6,000 के साथ अब हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जल्दी उठाएं फायदा; जानिए तरीका इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर मिलती है टैक्स छूट, ऐसे उठा सकते हैं फायदा PM Kusum Yojana 2022 के नाम पर चालू है ठगी का धंधा, सरकार ने किसानों को किया अलर्ट दिल्ली पर मंडराया जल संकट, तीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में प्रोडक्शन कम, कल सुबह से पानी के लिए तरस जा... 31 मई को ठहर सकते हैं देश भर में ट्रेनों के पहिए, स्टेशन मास्टर जाएंगे अवकाश पर 52 परी के 8 आशिक गिरफ्तार: शांति होम्स होटल में चला रहा था पैसे डबल करने का खेल कारोबारी को लहूलुहान कर लूटे 50 लाख, वारदात के बाद 'धूम 3' की तरह भागे लुटेरे, मौका-ए-वारदात पर SSP ... शेयर और गोल्ड कारोबारी की चाकुओं से गोदकर हत्या, घर में मिली खून से सनी लाश लॉटरी के नाम पर से 25 लाख की धोखाधड़ी, फिर ठगों ने महिला से मांगे अश्लील तस्वीर राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट

कश्मीरी पंडितों का प्रवास ‘अधिकारियों की आवाजाही’ का हिस्सा : सरकार

Whats App

नयी दिल्ली : सरकार ने बुधवार को कहा कि कश्मीरी पंडितों के 115 परिवारों का कश्मीर से हालिया जम्मू प्रवास ‘अधिकारियों की आवाजाही का हिस्सा’ है और यह शैक्षिक संस्थानों में शीतकालीन अवकाश की वजह से हुआ है।

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। सरकार से कांग्रेस के नारणभाई जे राठवा ने पूछा था कि क्या सुरक्षा संबंधी बढ़ती चिंता सहित अन्य वजहों से कई हिंदू और सिख श्रीनगर से अन्यत्र जा रहे हैं।

राय ने उत्तर में बताया अक्टूबर 2021 में, कश्मीर में रह रहे करीब 115 कश्मीरी पंडित परिवार जम्मू चले गए। इनमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हैं। ये परिवार सरकारी कर्मचारियों के हैं और इनमें से ज्यादातर लोग अधिकारियों की आवाजाही के तहत और शैक्षिक संस्थानों में शीतकालीन अवकाश की वजह से जम्मू गए हैं।

Whats App

उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर सरकार की एक वर्तमान योजना के तहत, आतंकवादी हिंसा संबंधी घटनाओं में मारे गए नागरिकों के परिजन को एक-एक लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी।

राय ने बताया, “इसके अलावा भारतीय भूभाग में आतंकवादी हिंसा, सांप्रदायिक हिंसा, वामपंथी चरमपंथियों की हिंसा, सीमा पार से गोलीबारी, बारुदी सुरंग में या आईईडी में विस्फोट से जान गंवाने वाले आम नागरिकों के परिवार के लिए केंद्रीय सहायता योजना के तहत पांच लाख रुपये दिए जाते हैं।”

उन्होंने बताया कि श्रीनगर में अल्पसंख्यक समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई इंतजाम किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि इस साल अक्टूबर में आतंकवादियों ने जम्मू के प्रमुख कश्मीरी पंडित केमिस्ट एम एल बिन्द्रू, एक सरकारी स्कूल की सिख प्राचार्य और एक हिंदू शिक्षक तथा उत्तर प्रदेश एवं बिहार से आए कुछ रेहड़ी-पटरी वालों को मार डाला था।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

किसानों को 6,000 के साथ अब हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जल्दी उठाएं फायदा; जानिए तरीका     |     इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर मिलती है टैक्स छूट, ऐसे उठा सकते हैं फायदा     |     PM Kusum Yojana 2022 के नाम पर चालू है ठगी का धंधा, सरकार ने किसानों को किया अलर्ट     |     दिल्ली पर मंडराया जल संकट, तीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में प्रोडक्शन कम, कल सुबह से पानी के लिए तरस जाएंगे लाखों लोग     |     31 मई को ठहर सकते हैं देश भर में ट्रेनों के पहिए, स्टेशन मास्टर जाएंगे अवकाश पर     |     52 परी के 8 आशिक गिरफ्तार: शांति होम्स होटल में चला रहा था पैसे डबल करने का खेल     |     कारोबारी को लहूलुहान कर लूटे 50 लाख, वारदात के बाद ‘धूम 3’ की तरह भागे लुटेरे, मौका-ए-वारदात पर SSP और टीम     |     शेयर और गोल्ड कारोबारी की चाकुओं से गोदकर हत्या, घर में मिली खून से सनी लाश     |     लॉटरी के नाम पर से 25 लाख की धोखाधड़ी, फिर ठगों ने महिला से मांगे अश्लील तस्वीर     |     राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374