Breaking
राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट मूर्तियां और कलश से लेकर शिवलिंग तक...तीन दिन का सर्वे पूरा वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग! भाजपा में चला मंथन का दौर, अलग निगम का अलग घोषणापत्र होगा जारी भारत माता की तस्वीर को जमीन पर रखकर अपमानित करने पर भड़के NSUI कार्यकर्ता, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन... सुप्रीम कोर्ट में शिवराज सरकार प्रस्तुत कर चुकी है, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग की वार्डवार रिपोर्ट, मंगल... EPF अकाउंट से Withdrawal पर हो सकता है 15 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान, रिटायरमेंट पर लगेगा झटका! हार्ट अटैक, पर्वतीय बीमारी से अब तक 39 तीर्थयात्रियों की मौत MP में अब नीलगाय का शिकार: पुलिस ने 2 शिकारियों को किया गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी इमरान खान को गिरफ्तार किया तो पाकिस्तान में होंगे श्रीलंका जैसे हालात रेलवे ने अचानक इन 20 ट्रेनों को क‍िया रद्द, ऐसे यात्र‍ियों को होगी मुश्‍क‍िल

विधानसभा में बिहार भूमि दाखिल-खारिज संशोधन विधेयक पारित, भूमि संबंधी विवाद होंगे कम

Whats App

पटनाः बिहार विधानसभा में बुधवार को भूमि दाखिल-खारिज संशोधन विधेयक, 2021 पारित हो गया, जिससे राज्य में भूमि संबंधी विवादों को कम करने में काफी मदद मिलेगी।

राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम सूरत राय ने बुधवार को विधानसभा में भोजनावकाश की कार्यवाही के दौरान बिहार भूमि दाखिल-खारिज संशोधन विधेयक, 2021 की स्वीकृति की मांग करते हुए कहा कि अधिकांश भूमि विवादों का मूल कारण भूखंडों का दाखिल-खारिज नहीं किया जाना है। उन्होंने कहा कि दाखिल-खारिज के बाद भी एक ही परिवार के अलग-अलग सदस्य भूमि का अगला हिस्सा, जो काफी महंगा होता है को बार बार बेचा दिया जाता है, जिससे विवाद शुरू होता है।

राम सूरत राय ने कहा कि इस विधेयक के अधिनियम बनने से एक ही भूखंड को कई बार बेचे जाने के मामले समाप्त हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि विधेयक के प्रावधान के अनुसार, दाखिल-खारिज कराने के लिए भूखंड के नक्शे की जरूरत होगी। भूखंड और उसका नक्शा ऑनलाइन उपलब्ध होगा। इसके माध्यम से कोई भी देख सकता है कि भूखंड के किस हिस्से का मालिक कौन है।

Whats App

मंत्री ने एक आकलन के हवाले से बताया कि थानों में पहुंचने वाले भूमि विवाद के 50 से 60 प्रतिशत मामले भूखंडों का दाखिल-खारिज नहीं किए जाना है। उन्होंने कहा कि भूखंडों के साथ-साथ नक्शे में परिवर्तन के नए प्रावधान से भूमि विवाद के मामलों में काफी कमी आएगी। उन्होंने सदन के सभी सदस्यों से अपने भूखंडों का दाखिल-खारिज कराने की भी अपील की। इसके बाद सदन में बिहार भूमि दाखिल-खारिज संशोधन विधेयक, 2021 पारित किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट     |     मूर्तियां और कलश से लेकर शिवलिंग तक…तीन दिन का सर्वे पूरा वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग!     |     भाजपा में चला मंथन का दौर, अलग निगम का अलग घोषणापत्र होगा जारी     |     भारत माता की तस्वीर को जमीन पर रखकर अपमानित करने पर भड़के NSUI कार्यकर्ता, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का फूंका पुतला     |     सुप्रीम कोर्ट में शिवराज सरकार प्रस्तुत कर चुकी है, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग की वार्डवार रिपोर्ट, मंगलवार को होगा तय     |     EPF अकाउंट से Withdrawal पर हो सकता है 15 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान, रिटायरमेंट पर लगेगा झटका!     |     हार्ट अटैक, पर्वतीय बीमारी से अब तक 39 तीर्थयात्रियों की मौत     |     MP में अब नीलगाय का शिकार: पुलिस ने 2 शिकारियों को किया गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी     |     इमरान खान को गिरफ्तार किया तो पाकिस्तान में होंगे श्रीलंका जैसे हालात     |     रेलवे ने अचानक इन 20 ट्रेनों को क‍िया रद्द, ऐसे यात्र‍ियों को होगी मुश्‍क‍िल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374