Breaking
कटनी-गुमला नेशनल हाईवे पर दिनभर किया चक्काजाम; धर्म परिवर्तन के मामले का विरोध प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 16 लाख उपभोक्ता रहे वंचित; हाईकोर्ट ने मांगा जवाब बेटे को 30 हजार रूपए दिए थे, पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाई; माही डैम में मिला था शव 3 वेरियंट्स में लॉन्च होगी Mahindra XUV 400 EV, जानें फीचर्स और डिटेल्स बैंगलुरू से महिला समेत 2 आरोपी गिरफ्तार; ज्यादा ब्याज का लालच देकर ठगे थे रुपये BSF अफसरों ने पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ मीटिंग की तब उन्होंने जवान को लौटाया सजा पूरी होने के बाद भी जेलों में रखने पर जताया रोष काम न करने वाले नर्सिंग स्टॉफ को तत्काल जारी करें नोटिस, अधिकारियों की लाइव लोकेशन मंगाए सीएमओ जोरदार धमाके में सड़क पर लाशे हुई ढेर,चारों तरफ मची चीख-पुकार... यूपी के 1440 छात्रों को अटल आवासीय विद्यालयों में मिलेगा प्रवेश

बूस्टर डोज कब लगेगी और बच्चों को वैक्सीन कब दी जाएगी? स्वास्थ्य मंत्री ने संसद में दिया जवाब

Whats App

नई दिल्लीः कोविड वैक्सीन की बूस्टर या तीसरी अतिरिक्त खुराक तथा 18 साल से कम उम्र के बच्चों को वैक्सीन पर भी विशेषज्ञ विचार कर रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को लोकसभा में यह जानकारी दी। इसके साथ ही मांडविया ने कहा कि हमारे पास दो ही विकल्प हैं जिसमें से एक राजनीतिक और दूसरा वैज्ञानिक है। उन्होंने कहा कि वायरस के संक्रमण को लेकर दो विशेषज्ञ समूह अनुसंधान कर रहे हैं जिन्होंने टीका अनुसंधान में सहयोग दिया है और इस विषय पर भी विशेषज्ञ विचार कर रहे हैं। मंत्री ने कहा, ‘‘वैज्ञानिक गहन विचार कर रहे हैं और जब वैज्ञानिक एवं विशेषज्ञ तय करेंगे और जैसा तय करेंगे उनके मार्गदर्शन के आधार पर सरकार आगे चलेगी।”

कोरोना वायरस के खिलाफ सामूहिक लड़ाई की जरूरत को रेखांकित करते हुए मांडविया ने आरोप लगाया कि इस गंभीर आपदा के काल में कुछ राजनीतिक दलों ने टीके पर संशय फैलाने का प्रयास करके, टीकाकरण अभियान पर सवाल उठाकर एवं प्रधानमंत्री पर आरोप लगाकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने प्रयास किया।

मंडाविया ने कहा, “कुछ विपक्षी दल के लोगों ने सदी के सबसे कठिन समय में भी राजनीति से बाहर नहीं आकर देश की कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने का हर संभव प्रयास किया। पहले लॉकडाउन में लोगों को उकसाया, फिर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का मजाक उड़ाया। दशकों तक इन्हीं लोगों ने ही लोगों को गरीब रखा था। देश में बनी वैक्सीन होने के कारण उसपर सवाल उठाए, वैक्सीन ड्राइव शुरू हुआ तो लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया और वैक्सीन लेने के लिए डराया गया।”

Whats App

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कई लोगों ने वैक्सीनेशन की शुरुआत से ही कह दिया कि पीएम ने क्यों नहीं ली। जब प्रधानमंत्री जी ने ली तो कहा यह वैक्सीन बीजेपी की वैक्सीन है। हिंदुस्तान के इतिहास की राजनीति में मेरे दल ने तो कभी ऐसा व्यव्हार नहीं किया। 17 सितंबर को आदरणीय प्रधानमंत्री जी का जन्मदिन था, भाजपा उसे एक दल के तौर पर सेवा सप्ताह के तौर पर मनाती है और सभी कार्यकर्ताओं तथा सरकारों ने मेहनत की, मैने केवल वैक्सीन लगवाने के लिए ट्वीट करके आहवान किया था। 1-2 सरकारों को छोड़ सारी संस्थाएं, एनजीओ, मेरी पार्टी लगी, कई लोग बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, सार्वजनिक जगहों पर जाकर वैक्सीन ड्राइव शुरू किया।

कटनी-गुमला नेशनल हाईवे पर दिनभर किया चक्काजाम; धर्म परिवर्तन के मामले का विरोध     |     प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 16 लाख उपभोक्ता रहे वंचित; हाईकोर्ट ने मांगा जवाब     |     बेटे को 30 हजार रूपए दिए थे, पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाई; माही डैम में मिला था शव     |     3 वेरियंट्स में लॉन्च होगी Mahindra XUV 400 EV, जानें फीचर्स और डिटेल्स     |     बैंगलुरू से महिला समेत 2 आरोपी गिरफ्तार; ज्यादा ब्याज का लालच देकर ठगे थे रुपये     |     BSF अफसरों ने पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ मीटिंग की तब उन्होंने जवान को लौटाया     |     सजा पूरी होने के बाद भी जेलों में रखने पर जताया रोष     |     काम न करने वाले नर्सिंग स्टॉफ को तत्काल जारी करें नोटिस, अधिकारियों की लाइव लोकेशन मंगाए सीएमओ     |     जोरदार धमाके में सड़क पर लाशे हुई ढेर,चारों तरफ मची चीख-पुकार…     |     यूपी के 1440 छात्रों को अटल आवासीय विद्यालयों में मिलेगा प्रवेश     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374