New Year
Breaking
जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी  इलेक्शन मोड में सरकार अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल

पूर्व भारतीय क्रिकेटरों ने की मयंक अग्रवाल की तारीफ, बताया कैसे बने मुंबई के हीरो

Whats App

नई दिल्ली। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट मैच में शानदार बल्लेबाजी की थी। मयंक ने पहली पारी में 150 और दूसरी पारी में 62 रन बनाए थे। हालांकि, वे कानपुर टेस्ट मैच में कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए थे, लेकिन मुंबई में जिस तरह से वे कीवी गेंदबाजों पर हावी हुए, इसके लिए पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण और संजय बांगर ने तारीफ की है

टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने कहा, “मयंक अग्रवाल की बल्लेबाजी शैली तारीफ के काबिल थी। उन्होंने बहुत ही कुशलता से वानखेड़े की पिच का मुकाबला किया, जिसमें काफी टर्न और उछाल था। जिस तरह से उन्होंने टिम साउदी के खिलाफ रन बनाए और उनका सामना किया, वह मैच का मुख्य आकर्षण था, क्योंकि साउथी ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने पहले टेस्ट मैच में भारत को बहुत परेशान किया था।

Whats App

उन्होंने आगे कहा, “मयंक ने तेज गेंदबाजों के खिलाफ काफी अनुशासन दिखाया और स्पिनरों के खिलाफ काफी रन बनाए, खासकर एजाज पटेल के खिलाफ। मुझे लगता है कि एजाज एक गेंदबाज हैं जो गेंद को ऊंची पिच कराते हैं और जब भी उसने गेंद को ऊंचा किया है तो मयंक अग्रवाल ने अपने पैरों का इस्तेमाल करते हुए हवाई शाट खेले हैं। उन्होंने टर्न के साथ लंबे शाट खेले हैं और इसलिए मुझे लगता है कि यह मयंक अग्रवाल के लिए एक बड़ी उपलब्धि है, जिस तरह से उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में वापसी की है।”

वहीं, स्टार स्पोर्ट्स के शो फालो द ब्ल्यूज में ही वीवीएस लक्ष्मण ने मयंक की तारीफ में कहा, “मुझे लगता है कि कानपुर और मुंबई के बीच का अंतर यह था कि उन्होंने थोड़े से तकनीकी समायोजन किए थे, इसलिए उन्होंने काइल जेमिसन और टिम साउथी के खिलाफ गेम प्लान पर भरोसा किया, क्योंकि कानपुर में दोनों पारियों में वह आफ स्टंप पर और बाहर पिचिंग करने वाली गेंदों पर आउट हुए, जबकि मुंबई में, खासकर पहली पारी में, वह बहुत सारी गेंदें छोड़ने के लिए तैयार थे।”

उन्होंने आगे बताया, “वह गेंद की पिच में अपना फ्रंट फुट रख रहे थे और काफी अनुशासन के साथ खेल रहे थे, लेकिन जब स्पिनर आए तो वह अपने पैरों का बहुत इस्तेमाल कर रहे थे और मुझे लगता है कि वह एक मानसिकता के साथ खेले, जो कि प्रथम श्रेणी और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने के समान है। उन्होंने आत्म-विश्वास को बहुत महत्व दिया है और उन्हें अंदर आकर खुद को व्यक्त करते हुए देखकर बहुत अच्छा लगा। उन्होंने कुछ बेहतरीन शाट लगाए, खासकर एजाज पटेल के खिलाफ। लान्ग आफ पर उनका शाट और छक्कों के लिए एक्स्ट्रा कवर पर उनका शाट शायद उनकी पारी का सबसे अच्छा शाट है।”

जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी     |      इलेक्शन मोड में सरकार     |     अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त     |     गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो     |     रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया     |     तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश     |     इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा     |     मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित     |     चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी     |     रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374