Breaking
आवास दिलाने के नाम पर धोखे से लिखवा लिया गरीब की जमीन गिरफ्तारी के लिए घर में घुसी पुलिस से घबरा कर आरोपी के बुजुर्ग पिता की मौत लोगों ने पुलिस को बंधक बन... फुटबॉल मैच के दौरान भिड़े खिलाड़ी,छह को मिला रेड कार्ड पुलिस ने दबिश देकर 13 टंकियों से 2500 ली. लहान नष्ट किया, 1 लाख कीमत की थी ग्रामीणों में आक्राश, बोले-जल्द ही मरम्मत नहीं होने पर होगा आंदोलन फिर से बदले जाएंगे पुराने 500 और 1000 के नोट! जानिए क्या है पूरा माजरा, सुप्रीम कोर्ट ने कही ये बात डेरा बस्सी के पार्क से उठा ले गया आरोपी, एक हफ्ते से पुलिस के हाथ खाली लापता सिपाही का शव उत्तराखंड में पेड़ पर लटका मिला उन्नाव में जल्द निर्माण पूरा करके शुरू की जाएगी आपूर्ति ग्राम धनेरिया कलां में सोनल शर्मा सहित अन्य भजन गायक देंगे सुमधुर प्रस्तुतियां

अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?

Whats App

नई दिल्ली: राजस्थान कांग्रेस में अभी भी सियासी संकट बरकरार है। अशोक गहलोत और सचिन पायलट की लड़ाई पर पार्टी के आलाकमान को फैसला करना है। पार्टी का कहना है कि सोनिया गांधी राजस्थान के मुख्यमंत्री के बारे में एक-दो दिन में फैसला ले लेंगी। इसके बाद सभी की निगाहें राजस्थान पर टिकी हैं। अशोक गहलोत ने भले ही यह कहा है कि उनके लिए पद कोई मायने नहीं रखता और वह पार्टी को मजबूत बनाना चाहते हैं, लेकिन उनके विधायकों ने अभी भी अपना इस्तीफा वापस नहीं लिया है। उनका साफ कहना है कि दिल्ली के फैसले के बाद ही वह अपने स्टैंड पर विचार करेंगे। इससे पहले अशोक गहलोत ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को अपना समर्थन दिया और इसके तुरंत बाद अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली। गहलोत ने खड़गे का प्रस्तावक बनने के बाद कहा था, “मेरे लिए, कोई पद महत्वपूर्ण नहीं है। देश में कांग्रेस को मजबूत बनाने की जरूरत है और हर भारतीय ऐसा कह रहा है।”

सोनिया से की इस्तीफे की पेशकश?

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने सोनिया गांधी से भेंट के दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की पेशकश की, गहलोत ने इसका कोई सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा, ”मैं गांधी परिवार के आशीर्वाद से पिछले 50 वर्ष से कई पदों पर रहा हूं। इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी ने मुझे अपना आशीर्वाद दिया। मेरे लिए पद मायने नहीं रखता बल्कि यह मायने रखता है कि पार्टी को कैसे मजबूत किया जाए। मैं इसके लिए हरसंभव कोशिश करूंगा।” उन्होंने आगे कहा, “अगर मैं अभी कोई पद छोड़ता हूं, तो कहा जाएगा कि जब कांग्रेस संकट से गुजर रही है तो अशोक गहलोत भाग रहे हैं… मैं वही करूंगा जो आलाकमान कहेगा।”  अशोक गहलोत ने जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक नहीं हो पाने और संबंधित घटनाक्रम के लिए गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर माफी मांगी थी और कहा कि वह अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। राजस्थान से जुड़े सियासी घटनाक्रम के बीच कांग्रेस के संगठन महासचिव के. सी. वेणुगोपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री के संदर्भ में सोनिया गांधी अगले एक-दो दिन में फैसला करेंगी।

आवास दिलाने के नाम पर धोखे से लिखवा लिया गरीब की जमीन     |     गिरफ्तारी के लिए घर में घुसी पुलिस से घबरा कर आरोपी के बुजुर्ग पिता की मौत लोगों ने पुलिस को बंधक बनाया      |     फुटबॉल मैच के दौरान भिड़े खिलाड़ी,छह को मिला रेड कार्ड     |     पुलिस ने दबिश देकर 13 टंकियों से 2500 ली. लहान नष्ट किया, 1 लाख कीमत की थी     |     ग्रामीणों में आक्राश, बोले-जल्द ही मरम्मत नहीं होने पर होगा आंदोलन     |     फिर से बदले जाएंगे पुराने 500 और 1000 के नोट! जानिए क्या है पूरा माजरा, सुप्रीम कोर्ट ने कही ये बात     |     डेरा बस्सी के पार्क से उठा ले गया आरोपी, एक हफ्ते से पुलिस के हाथ खाली     |     लापता सिपाही का शव उत्तराखंड में पेड़ पर लटका मिला     |     उन्नाव में जल्द निर्माण पूरा करके शुरू की जाएगी आपूर्ति     |     ग्राम धनेरिया कलां में सोनल शर्मा सहित अन्य भजन गायक देंगे सुमधुर प्रस्तुतियां     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374